Korea Open: एचएस प्रणय, राजावत दूसरे दौर में, सिंधू और श्रीकांत की खराब फॉर्म जारी

येओसु। फॉर्म में चल रहे एचएस प्रणय ने यहां शानदार प्रदर्शन करते हुए बुधवार को कोरिया ओपन सुपर 500 टूर्नामेंट के दूसरे दौर में प्रवेश किया लेकिन पीवी सिंधू और किदाम्बी श्रीकांत की खराब फॉर्म जारी रही और दोनों पहले दौर में ही बाहर हो गये।
पांचवें वरीय प्रणय ने बेल्जियम के जूलियन कारागी पर 21-13 21-17 से जीत दर्ज की। एलीट शीर्ष 10 में एकमात्र भारतीय एकल खिलाड़ी प्रणय का सामना अब ली युन ग्यू और ली चेयूक यिऊ के बीच होने वाले मुकाबले के विजेता से होगा।
दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधू का निराशाजनक प्रदर्शन जारी रहा। वह पहले दौर में दुनिया की 22वें नंबर की खिलाड़ी चीनी ताइपे की पेई यू-पो के खिलाफ तीन गेम तक चले कड़े मुकाबले में 18-21 21-10 13-21 की हार के साथ टूर्नामेंट से बाहर हो गईं।
इस हफ्ते विश्व रैंकिंग में 17वें स्थान पर खिसकने वाली सिंधू यह मुकाबला 58 मिनट में हार गयीं।
वहीं श्रीकांत दूसरे गेम में एक मैच प्वाइंट गंवाने के साथ मुकाबला भी हार गये। उन्हें जापान के पूर्व नंबर एक केंटो मोमोटा ने 21-12 22-24 17-21 से हराया।
यह दो बार के विश्व चैम्पियन के खिलाफ श्रीकांत की लगातार 12वीं और कुल 15वीं हार थी।
भारत के प्रियांशु राजावत हालांकि दूसरे दौर में पहुंच गए। उन्होंने स्थानीय खिलाड़ी चोइ जि हून को पुरूष एकल वर्ग में सीधे गेम में हराया।
दुनिया के 32वें नंबर के खिलाड़ी ओरलियंस मास्टर्स विजेता राजावत ने चोइ को 42 मिनट में 21-15 21-19 से हराया। अब उनका सामना शीर्ष वरीयता प्राप्त जापान के कोडाइ नराओका से होगा।
जून में विक्टर डेनमार्क मास्टर्स अंतरराष्ट्रीय चैलेंज का खिताब जीतने वाली एन सिक्की रेड्डी और रोहन कपूर की मिश्रित युगल जोड़ी ने एल्विन मोराडा और एलिसा यसाबेल लियोनार्डो की फिलिपीन्स की जोड़ी के खिलाफ सीधे गेम में 21-17 21-17 की जीत के साथ दूसरे दौर में जगह बना ली है।
यह भारतीय जोड़ी अगले दौर में फेंग यान झी और हुआंग डोंग पिंग की चीन की चौथी वरीय जोड़ी से भिड़ेगी।
किरण जॉर्ज हालांकि पहले दौर की बाधा पार नहीं कर सके और चीनी ताइपै के दुनिया के 29वें नंबर के खिलाड़ी वांग जू वेइ से 17-21 9-21 से हार गए।
आकर्षी कश्यप, तस्नीम मीर, मिथुन मंजूनाथ और अश्मिता चालिहा को भी पहले दौर में हार का सामना करना पड़ा जिससे शीर्ष खिलाड़ियों और उनके बीच के स्तर में भारी अंतर का पता चलता है।
आकर्षी को चीन की दुनिया की 20वें नंबर की खिलाड़ी झेंग यी मान के खिलाफ 12-21 17-21 से जबकि तस्नीम को कोरिया की दुनिया की 19वें नंबर की खिलाड़ी किम गा युन के खिलाफ 11-21 18-21 से हार झेलनी पड़ी।इसे भी पढ़ें: भारत और वेस्टइंडीज के बीच सौवें टेस्ट में रहाणे की नजरें रनों पर
राष्ट्रीय चैंपियन मंजूनाथ के पास मलेशिया के दुनिया के 23वें नंबर के खिलाड़ी एनजी जे योंग का कोई जवाब नहीं था। मलेशियाई खिलाड़ी ने एकतरफा मुकाबले में 21-11 21-4 से जीत दर्ज की।
अश्मिता को भी ओलंपिक चैंपियन चेन यूई फेई के खिलाफ सीधे गेम में 13-21 12-21 से हार का सामना करना पड़ा।
बी सुमीत रेड्डी और अश्विनी पोनप्पा को कोरिया के सोंग हयून चो और ली जुंग हयून की जोड़ी ने मिश्रित युगल के पहले दौर में 23-21, 13-21, 21-12 से हराया।
बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर छह स्तरों पर बंटा है जिनमें विश्व टूर फाइनल्स, सुपर 1000 चार, सुपर 750 छह , सुपर 500 सात और सुपर 300 स्तर के 11 टूर्नामेंट शामिल हैं।
एक अन्य वर्ग बीडब्ल्यूएफ टूर सुपर 100 स्तर है जिससे रैंकिंग अंक मिलते हैं।