Kartavyapath| मेक इन इंडिया का ब्रांड एंबेसडर बन रहा है तमिलनाडु, करोड़ों की परियोजनाओं का हुआ शिलान्यास

बीते 10 वर्षों के दौरान भारत ने आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर में बड़ा निवेश किया है। रोड से लेकर रेल तक, पोर्ट से एयरपोर्ट, गरीबों के घर से अस्पताल तक के लिए बढ़ चढ़कर निवेश किया जा रहा है। भारत फिजिकल और सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर पर निवेश किया जा रहा है। इसी का नतीजा है कि भारत दुनिया की शीर्ष पांच इकॉनॉमी में शुमार है। तमिलनाडु में हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई विकास कार्यों का शिलान्यास और उद्घाटन भी किया है। इस खास मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधन भी दिया और कहा कि भारत दुनिया की उम्मीद बनकर उभर रहा है। बड़े बड़े निवेशक भारत में निवेश करने के इच्छुक हैं और निवेश भी कर रहे है। तमिलनाडु़ के लोगों को भी इसका लाभ मिला है। मेक इन इंडिया का भी तमिलनाडु़ ब्रांड एंबेसडर बनकर उभरा है। केंद्र सरकार राज्य के विकास से देश के विकास के मंत्र पर आगे बढ़ रही है, जिसका नतीजा है कि बीते एक वर्ष में केंद्र सरकार के 40 से भी अधिक मंत्रियों ने 400 से अधिक बार तमिलनाड़ु का दौरा किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब तमिलनाड़ु का विकास होगा देश का भी विकास तेजी से होगा। केंद्र सरकार कर रही बड़ी राशि खर्चतमिलनाड़ु को विकास की राह में आगे ले जाने के लिए केंद्र सरकार रिकॉर्ड राशि भी खर्च कर रही है। वर्ष 2014 से पहले के 10 वर्षों में केंद्र सरकार राज्यों को महज 30 लाख करोड़ रुपये की राशि देती थी जबकि बीते 10 वर्षों के दौरान 120 लाख करोड़ रुपये राज्यों को विकास के लिए मुहैया कराए गए है। वर्ष 2014 से पहले के दौरान 10 वर्षों में तमिलनाडु़ को जितना राशि केंद्र सरकार से मिली थी इससे ढ़ाई गुणा अधिक राशि वर्तमान केंद्र सरकार ने दी है। पहले के मुकाबले में नरेंद्र मोदी की अगुवाई में केंद्र सरकार ने तमिलनाडु में नेशनल हाईवे बनाने के लिए तीन गुणा से अधिक की राशि खर्च की है। रेलवे को आधुनिक बनाने के लिए भी पहले के मुकाबले तमिलनाडु में ढ़ाई गुणा अधिक राशि को खर्च किया जा रहा है। तमिलनाडु के लाखों गरीब परिवारों को केंद्र सरकार से मुफ्त राशन, मुफ्त इलाज मिल रहा है। पक्का घर, शौचाालय, नल कनेक्शन, गैस कनेक्शन जैसी अनेक सुविधाएं लोगों को मिली है।  राज्य को मिली है ढ़ेरों परियोजनाएं- तिरुचिराापल्ली के भारतीदासन यूनिवर्सिटी के 38वें दीक्षांत समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छात्रों को पुरस्कार प्रदान किया है। इस अवसर पर उन्होंने जनसमूह को भी संबोधित किया।- तिरुचिराापल्ली में सार्वजनिक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने तिरुचिराापल्ली अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट के नए टर्मिनल भवन का उद्घाटन भी किया।- ये टर्मिनल भवन 1100 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बना है। नए टर्मिनल में यात्रियों के लिए अत्याधुनिक सुविधाएं और विशेषताएं है।- कई रेल परियोजनाएं भी राज्य को समर्पित हुई है जिसमें माल ढुलाई क्षमता का विस्तार हुआ है। रेल क्षमता को सुधारने के लिए भी ये परियोजनाएं मददगार साबित होंगी। इससे राज्य में आर्थिक विकास होने के साथ ही रोजगार सृजन भी होगा।- सड़क विकास को मजबूत करने के लिए भी प्रधानमंत्री ने पांच परियोजनाओं को समर्पित किया है। ये स्थानीय लोगों को सुरक्षित और तेज यात्रा सुविधा देगी।- कई महत्वपूर्ण सड़क विकाास परियोजनाओं का शिलाान्यास भी किया है। इनमें एनएच 332ए के मुगैयुर से मरक्कनम तक 31 किलोमीटर लंबी चार लेन का सड़क निर्माण शामिल है।- कामराजार बंदरगाह के जनरल कार्गो बर्थ II राष्ट्र को समर्पित किया है। ये देश के व्यापार को मजबूत करने की दिशा में एक मजबूत कदम है। ये आर्थिक विकास और रोजगार सृजन को भी बढ़ावा देगा।- कुल नौ हजार रुपये से अधिक की पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित की जाएंगी। इनकी भी आधारशिला रखी गई है।- कलपक्कम स्थित इंदिरा गांधी परमाणु अनुसंधान केंद्र में फास्ट रिएक्टर फ्यूल रीप्रोसेसिंग प्लांट भी देश को समर्पित हुआ है, जो भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा डिजायन किया गया है।- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान तिरुचिरापल्ली के 500 बिस्तरों वाले लड़कों के हॉस्टल का भी उद्घाटन किया है।