CJI चंद्रचूड़ के लिए कर्म ही पूजा, राम मंदिर का न्योता मिला पर SC में सुनवाई करते दिखे

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट के को भी अयोध्या में राम मंदिर में बाल राम की प्राण प्रतिष्ठा के लिए निमंत्रण भेजा गया था। चीफ जस्टिस अयोध्या पर शीर्ष अदालत की फैसला सुनाने वाली बेंच का हिस्सा रहे थे। अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा का भव्य कार्यक्रम चल रहा है। इधर, चीफ जस्टिस चंद्रचूड़ अपने काम में लगे हुए हैं। दरअसल, आज अदालत में छुट्टी नहीं है और चीफ जस्टिस मामले की सुनवाई कर रहे हैं। आज सुबह 10 बजे जब कोर्ट खुला तो चीफ जस्टिस चंद्रचूड़ एक मामले की सुनवाई के लिए बैठे दिेखे। केंद्र सरकार ने आज आधे दिन की छुट्टी की घोषणा कर रखी है। इसके अलावा कई राज्यों में भी राम मंदिर के उद्घाटन के अवसर पर छुट्टी है। लेकिन सुप्रीम कोर्ट में आज छुट्टी नहीं है। चीफ जस्टिस चंद्रचूड़ समेत अन्य जज मामलों की सुनवाई में व्यस्त दिखे।सुप्रीम कोर्ट ने 2019 में राम मंदिर के पक्ष में फैसला सुनाया था। फैसला देने वाली पांच जजों की संविधान पीठ में उस समय के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एस.ए बोबड़े, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस अब्दुल नजीर शामिल थे। राम मंदिर ट्रस्ट की तरफ से इन सभी जजों को प्राण प्रतिष्ठा में शामिल होने का निमंत्रण मिला था।