Kanpur Fire | कानपुर में बहुमंजिला टावर में लगी आग, करीब 800 दुकानें जलकर खाक

कानपुर (उप्र)। उत्तर प्रदेश में कानपुर नगर पुलिस आयुक्तालय के बांसमंडी इलाके में एक बहुमंजिला वाणिज्यिक टावर में भीषण आग लग गई और यह आसपास के कई टावर तक फैल गयी। आग की चपेट में आकर करीब 800 दुकानें जलकर खाक हो गईं। पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।
पुलिस के अनुसार, बृहस्पतिवार और शुक्रवार की मध्यरात्रि को आग लगी। आग एआर (अफाक रसूल) टावर से शुरू हुई और तेजी से मकसूद, हमराज कॉम्प्लेक्स और नफीस टावर में भी फैल गई, जिससे इन चारों टावर में स्थित लगभग 800 दुकानें आग की चपेट में आ गईं।इसे भी पढ़ें: Kamada Ekadashi 2023: भगवान विष्णु की कृपा पाने के लिए एकादशी को करें इन मंत्रों का जाप, पूरी होंगी सभी मनोकामनाएं
अधिकारियों ने देर शाम बताया कि कानपुर और पड़ोसी जिलों के दमकल अधिकारियों की कोशिशों के बावजूद देर शाम तक आग पर काबू नहीं पाया जा सका।
प्रथम दृष्टया तेज आंधी के बाद शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगी है।
पुलिस आयुक्त बी.पी. जोगदंड ने कहा, लगभग 20 घंटे से आग बुझाने के प्रयास जारी हैं। अभियान में 60 दमकल गाड़ियों को लगाया गया है, जिन्हें आग बुझाने के लिए 400 से अधिक बार ‘रिफिल’ किया गया है।’’
वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, आग में करीब 150 करोड़ रुपए का सामान और नकदी जलकर खाक हो गई।
इसे भी पढ़ें: Hedgewar Birth Anniversary: देश सेवा के लिए ठुकरा दिया था नौकरी का प्रस्ताव, देखा था हिंदू राष्ट्र का सपना जिलाधिकारी विशाल जी. अय्यर ने बताया कि अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) राजेश कुमार की अध्यक्षता में चार सदस्यीय समिति का गठन किया गया है, जो नुकसान का आकलन और आग लगने के कारणों की जांच करेगी। समिति में अपर नगर आयुक्त, संयुक्त निदेशक व्यापार कर और मुख्य अग्निशमन अधिकारी शामिल हैं।
जिलाधिकारी ने कहा कि उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक के निर्देश के बाद समिति का गठन किया गया है। पाठक ने घटना स्थल का निरीक्षण किया और उन दुकानदारों से मुलाकात की, जिनकी दुकानें और प्रतिष्ठान आग में नष्ट हो गए।
उपमुख्यमंत्री ने कारोबारियों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है।
पाठक ने पत्रकारों से कहा कि आग पर काबू पाने के प्रयास जारी हैं। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि राहत एवं बचाव अभियान के दौरान किसी को नुकसान नहीं पहुंचे।
पाठक ने कहा, दुख की इस घड़ी में हमारी सरकार व्यापारियों के साथ खड़ी है और हम उन्हें (व्यापारियों को) अकेला नहीं छोड़ेंगे।
पाठक ने कहा कि मंडलायुक्त और पुलिस आयुक्त को आग से हुए नुकसान की संयुक्त रूप से सरकार को रिपोर्ट देने को कहा गया है।
समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि कपड़ा बाजार में आग व्यापारियों के लिए एक और बड़ा झटका है, जो पहले से ही नोटबंदी, जीएसटी छापे और मंदी का दंश झेल रहे हैं।
यादव ने प्रदेश सरकार से व्यापारियों को हुए नुकसान का आकलन करने के बाद सही मुआवजे की घोषणा करने का अनुरोध किया।
संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) आनंद प्रकाश तिवारी ने पीटीआई-को बताया कि सभी चार टावरों की दुकानें जलकर खाक हो गईं और करोड़ों का सामान पूरी तरह से नष्ट हो गया।
एक अन्य अधिकारी ने कहा, इमारत में अग्नि सुरक्षा नियमों का पालन नहीं किया गया।