राम मंदिर निर्माण के लिए एक करोड़ रुपए देने वाले कनक बिहारी दास नहीं रहे, रघुवंशी समाज के हैं बड़े संत

Narsinghpur News: मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर में सोमवार को एक भीषण सड़क हादसे में रघुवंशी समाज के महंत कनक बिहारी महाराज का निधन हो गया है. नरसिंहपुर नेशनल हाईवे 44 पर हुए इस सड़क हादसे में कनक बिहारी महाराज और उनके एक शिष्य विश्राम रघुवंशी की मौत हो गई, जबकि उनका ड्राइवर रूपलाल घायल हो गया है. उसे अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. उनकी बोलेरो गाड़ी में 3 लोग सवार थे. जिसमें से 2 की मौत हो गई है. दरअसल ये हादसा सुबह लगभग 8 बजे के करीब हुआ है.
वो अपनी बोलेरो गाड़ी से प्रयागराज से अपने छिंदवाड़ा आश्रम लौट रहे थे. तभी सगरी के पास हाइवे पर अचानक उनकी कार एक बाइक सवार को बचाने के चक्कर में आउट ऑफ कंट्रोल होकर पलट गई. दुर्घटना में महंत कनक बिहारी दास को काफी चोट आई और उनका खून बह गया जिस कारण उनका मौके पर ही निधन हो गया.
राम मंदिर निर्माण के लिए दी 1 करोड़ से ज्यादा की राशि
महंत कनक बिहारी दास महाराज ने राम मंदिर निर्माण में एक करोड़ से अधिक की राशि दान दी थी. इसी के ही साथ उन्होंने फरवरी 2024 में अयोध्या में श्रीराम यज्ञ 9009 कुंडीय करने का संकल्प लिया था. जिसमे सभी यजमान रघुवंशी समाज से होने की बात कही गई थी. रघुवंश शिरोमणि 1008 महंत कनक बिहारी दास के नाम से प्रसिद्ध महाराज का जन्म विदिशा जिले के नटेरन तहसील के खैराई गांव में हुआ था. लोग इन्हे रघुवंशी समाज के राष्ट्रीय संत के रूप में भी पहचानते थे. बता दें कि महंत कनक बिहारी दास का एक आश्रम उनके जन्मस्थान पर और दूसरा बड़ा आश्रण लोनी कलां छिंदवाड़ा में है.
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर व्यक्त किया दुख

एक सड़क दुर्घटना में परम श्रद्धेय संत यज्ञ सम्राट श्री श्री 1008 श्री कनक बिहारी महाराज का स्वर्गवास होने का दुखद समाचार प्राप्त हुआ।
गुरु जी का देवलोक गमन उनके समस्त शिष्यों और भक्तों के लिए अपूरणीय क्षति है।
ईश्वर महाराज जी की आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें और उनके pic.twitter.com/Y8YXEx2G6P
— Kamal Nath (@OfficeOfKNath) April 17, 2023

वहीं महंत कनक बिहारी दास महाराज के निधन पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दुख व्यक्त करते हुए ट्वीट किया है. कमलनाथ ने कहा ‘एक सड़क दुर्घटना में परम श्रद्धेय संत यज्ञ सम्राट श्री श्री 1008 श्री कनक बिहारी महाराज का निधन होने का दुख समाचार प्राप्त हुआ. गुरु जी का देवलोक गमन उनके समस्त शिष्यों और भक्तों के लिए अपूरणीय क्षति है. ईश्वर महाराज जी की आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें और उनके भक्तों को यह दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें.
ये भी पढ़ें- कोरोना से मौत के बाद परिवारवालों ने कर दिया था अंतिम संस्कार, दो साल बाद जिंदा वापस लौटा शख्स