कल्पना ने पति हेमंत सोरेन के सोशल मीडिया अकाउंट्स के साथ मोर्चा संभाला, बोलीं- ‘झारखंड झुकेगा नहीं’

हेमंत सोरेन के बाद उनकी पत्नी कल्पना सोरेन पारिवारिक या तकनीकी अड़चनों की वजह से भले सीएम की कुर्सी तक नहीं पहुंच पाईं, लेकिन, उन्होंने अब घर की दहलीज से बाहर आकर सियासी मोर्चा संभालने की तैयारी कर ली है। सोमवार को कल्पना सोरेन ने अपने पति हेमंत सोरेन के सोशल मीडिया अकाउंट्स को खुद संभालने का ऐलान कर दिया।जब तक झारखण्डी योद्धा हेमन्त सोरेन जी केंद्र सरकार और बीजेपी के षड्यंत्र को परास्त कर हम सब के बीच नहीं आ जाते, तब तक उनका यह एकाउंट, मेरे, यानी उनकी जीवन साथी कल्पना मुर्मू सोरेन द्वारा चलाया जाएगा।हमारे वीर पुरुखों ने अन्याय और दमन के खिलाफ हूल और उलगुलान किया था, अब फिर वह… pic.twitter.com/uhgAroaspC— Hemant Soren (@HemantSorenJMM) February 5, 2024

कल्पना सोरेन ने हेमंत सोरेन के एक्स और फेसबुक पर अकाउंट पर लिखा, “जब तक झारखंडी योद्धा हेमन्त सोरेन जी केंद्र सरकार और बीजेपी के षड्यंत्र को परास्त कर हम सब के बीच नहीं आ जाते, तब तक उनका यह एकाउंट, मेरे, यानी उनकी जीवन साथी कल्पना मुर्मू सोरेन द्वारा चलाया जाएगा। हमारे वीर पुरखों ने अन्याय और दमन के खिलाफ हूल और उलगुलान किया था, अब फिर वह वक्त आ गया है। आप सभी का स्नेह और आशीर्वाद पूर्व की भांति बना रहे। लड़े हैं, लड़ेंगे! जीते हैं, जीतेंगे! जय जोहार! जय झारखंड!” इस पोस्ट को उन्होंने “झारखंड झुकेगा नहीं” हैशटैग के साथ शेयर किया।एक्स पर हेमंत सोरेन के एक मिलियन फॉलोअर हैं, जबकि फेसबुक पर उनकी फॉलोइंग आठ लाख से ज्यादा है। कल्पना सोरेन खुद सोशल मीडिया पर इसके पहले कभी एक्टिव नहीं रही हैं। अब पति के सोशल मीडिया अकाउंट्स हैंडल करने का ऐलान कर उन्होंने एक तरह से राजनीति और सार्वजनिक विषयों पर सीधे हस्तक्षेप का इरादा जता दिया है।कल्पना सोरेन अपने पति हेमंत सोरेन के साथ अक्सर सार्वजनिक कार्यक्रमों में शिरकत करती दिखती रही हैं। हाल में सोरेन सरकार के चार साल पूरे होने पर मोरहाबादी मैदान में आयोजित समारोह में भी वह मंच पर मौजूद थीं। वर्ष 2019 में जब सोरेन ने सीएम पद की शपथ ली थी, तब पत्रकारों ने कल्पना सोरेन से राजनीति में उनके प्रवेश करने की संभावनाओं के बारे में पूछा था। इस पर कल्पना ने कहा था कि मैं फिलहाल पारिवारिक जिम्मेदारियां निभा रही हूं और इसी में खुश हूं।कल्पना मूल रूप से ओडिशा के मयूरभंज जिले के रायरंगपुर की रहने वाली हैं और सोरेन की तरह संथाली आदिवासी परिवार से आती हैं। कल्पना सोरेन के पिता अम्पा मुर्मू ने कुछ समय पहले एक इंटरव्यू में बताया था कि कल्पना सोरेन एमटेक और एमबीए हैं। उनकी बेटी इतनी पढ़ी-लिखी और काबिल है कि वह वक्त पड़ने पर किसी भी बड़ी जिम्मेदारी उठाने में सक्षम है।