जज सुसाइड: रात 10 बजे फोन पर किससे तेज आवाज में बात कर रही थी ज्‍योत्‍सना राय?

सुनील मिश्रा, बदायूं: बदायूं में महिला (29) की मौत के बाद उनके परिवार ने कई सवाल उठाए हैं जिनके जवाब अभी तक नहीं मिले हैं। उनके परिवार का कहना है कि रात के 10 बजे ज्‍योत्‍सना किसी से फोन पर तेज-तेज आवाज में बात कर रही थीं। इसी के बाद उनका शव फांसी के फंदे पर मिला था। ज्‍योत्‍सना () के पिता साजिश की आशंका जताते हुए हत्‍या का मामला दर्ज करा चुके हैं। ज्‍योत्‍सना के भाई भी सुरक्षा पर सवाल खड़े कर चुके हैं। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने जज की मौत के बाद सरकार को घेरने की कोशिश की है। बताया जा रहा है कि ज्‍योत्‍सना की पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट में मौत की वजह फांसी के फंदे पर लटकना दर्ज किया गया है। लेकिन सूइसाइड नोट और आखिरी फोन कॉल के डिटेल अभी सामने नहीं आए हैं। ज्‍योत्‍सना के परिवार वाले पुलिस अफसरों से मांग कर रहे हैं कि पूरे मामले की बारीकी से जांच हो ताकि जल्‍द से जल्‍द उनके साथ इंसाफ हो सके। बेटी की मौत की खबर के बाद मृतका जज ज्योत्सना राय के पिता अशोक राय ने कहा, हमें आभास होता तो बेटी को नौकरी छुड़वाकर ही बुला लेते। हमें क्षण भर को भी लगता कि कोई साजिश है तो मैं नौकरी छुड़वा देता। यह कहते हुए सुने जा सकते है,कुछ समझ नही आ रहा है हमको आभास होता तो बेटी को नौकरी छोड़कर ही बुला लेते। है साजिश है झण भर भी लगा होता तो मैं नौकरी छुडवा देता।’ अशोक राय ने कहा, सीजेएम साहब की पत्‍नी बता रही हैं कि रात 10 बजे कोई कॉल आया था, वह तेज-तेज आवाज में बात कर रही थी। उनका कहना था कि पुलिस के अफसरों को आखिरी कॉल, उसकी डिटेल, सूइसाइड नोट, फटे डायरी के पन्‍नों का सच सामने लाना चाहिए ताकि मौत की गुत्‍थी सुलझ जाए। अटकलों पर विराम लगे, कोई दोषी रहा हो तो उसके किए की सजा मिले।