Jharkhand Political Crisis: शपथग्रहण या राष्ट्रपति शासन? UPA विधायकों का रांची टू हैदराबाद सफर, बीजेपी ने बुलाई बैठक

हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी के बाद राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश करने वाले झारखंड के मंत्री चंपई सोरेन ने राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन से मुलाकात की। चंपई सोरेन ने सरकार बनाने के लिए बहुमत का दावा किया और कहा कि राज्यपाल जल्द ही फैसला लेंगे। चंपई सोरेन ने जिन 43 विधायकों की गिनती कराई है, उसमें जेएमएम के 24 विधायक शामिल हैं. कांग्रेस के 17, आरजेडी के एक और सीपीआई (एमल) के विधायक हैं। चंपई सोरेन के साथ कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, राजद विधायक सत्यानंद भोक्ता, सीपीआई (एमएल) एल विधायक विनोद सिंह और विधायक प्रदीप यादव भी थे। चंपई सोरेन के राज्यपाल से मिलने जाने से पहले, झारखंड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस और राष्ट्रीय लोक दल के सत्तारूढ़ गठबंधन ने चंपई सोरेन के समर्थन में 43 विपक्षी विधायकों का एक वीडियो जारी किया। झारखंड के राजनीतिक स्थिति के बीच, झारखंड में जेएमएम के नेतृत्व वाले सत्तारूढ़ गठबंधन के विधायकों को लेकर एक बस रांची के सर्किट हाउस से रवाना हुई। जिसके बाद विधायकों को चार्टेड प्लेन से हैदराबाद ले जाया जा रहा है। इसे भी पढ़ें: 17 देशों ने भारत की ओर बढ़ाया कदम, सदमे में आया मालदीव, गोवा में क्या करने जा रही है मोदी सरकारजल्द ही फैसला लेंगे राज्यपालजेएमएम विधायक दल के नेता चंपई सोरेन ने कहा कि हमने कल नई सरकार बनाने का दावा पेश किया था। हमने  राज्यपाल से कहा कि हम इस विषय पर क्लियर है। हमने उनसे इसे जल्दी करने का अनुरोध किया है। उन्होंने भी कहा है कि वो जल्द ही करेंगे।होटवार जेल में हेमंत सोरेनधन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा गिरफ्तार किए गए झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को एक दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। वकीलों ने यह जानकारी दी। ईडी ने सोरेन का 10 दिन का रिमांड मांगा था। अदालत ने अपना आदेश शुक्रवार के लिए सुरक्षित रख लिया। वकीलों ने बताया कि झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष को एक दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इसे भी पढ़ें: Jharkhand: एक दिन की न्यायिक हिरासत में रहेंगे हेमंत सोरेन, ED की रिमांड पर शुक्रवार को आएगा फैसलाइंडिया के शीर्ष नेताओं ने की बैठकविपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ के शीर्ष नेताओं ने बुधवार शाम को मुलाकात की और झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के नेता हेमंत सोरेन के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे तथा उनकी गिरफ्तारी के बाद उत्पन्न हुई स्थिति पर चर्चा की। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के आवास पर हुई इस बैठक में सोनिया गांधी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के महासचिव सीताराम येचुरी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के सुप्रीमो शरद पवार और द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) नेता टी आर बालू समेत अन्य नेता शामिल हुए। झामुमो ‘इंडियन नेशनल डेवलेपमेंटल इन्क्लूसिव एलायंस’ (इंडिया) का एक घटक दल है।