जम्मू-कश्मीर के DG जेल हेमंत लोहिया का घर में शव मिला, पुलिस ने जताई हत्या की आशंका

जम्मू कश्मीर कारागार डीजी जेल एचके लोहिया जम्मू के उदयवाला में अपने घर में मृत पाए गए हैं. शुरुआती खबरों के मुताबिक पुलिस लोहिया के शव उनके घर से बरामद किए हैं और आगे की जांच कर रही है. हैरानी की बात यह है कि गृह मंत्री अमित शाह जम्मू-कश्मीर के तीन दिवसीय दौरे पर हैं, जब टॉप अधिकारी की संदिग्ध हत्या हुई है. आधिकारिक सूत्रों ने रहस्यमय परिस्थितियों में उनकी मौत की पुष्टि की है. एक पुलिस अधिकारी ने एक बयान में मौत की पुष्टि की और हत्या की आशंका जताई है. पुलिस ने बताया कि उनकी स्थानीय सहायिका मौके से फरार है.
एक स्थानीय न्यूज एजेंसी के मुताबिक पुलिस के एडिशनल डायरेक्टर जनरल मुकेश सिंह ने डीजी जेल की मौत पर दुख जताया है. उन्होंने कहा, “जम्मू-कश्मीर पुलिस परिवार अपने वरिष्ठ अधिकारी की मौत पर गहरा दुख व्यक्त करता है.” 1992 बैच के आईपीएस अधिकारी को इस साल अगस्त महीने में डीजी जेल के रूप में तैनात किया गया था. स्थानीय मीडिया जेके न्यूजलाइन ने न्यूज एजेंसी केडीसी के हवाले से बताया कि मौके की शुरुआती जांच से पता चला कि यह घटना संदिग्ध हत्या का मामला है.
फॉरेंसिक और क्राइम ब्रांच की टीम मौके पर मौजूद
जम्मू के एडीजीपी मुकेश सिंह ने एक आधिकारिक बयान में कहा, हेमंत लोहिया डीजी जेल का शव संदिग्ध परिस्थितियों में मिला है. अपराध स्थल की पहली जांच में यह हत्या का संदेहास्पद मामला सामने आया है. अधिकारी की घरेलू सहायिका फरार है. उसकी तलाश शुरू कर दी गई है. फोरेंसिक टीम और क्राइम टीम मौके जांच पड़ताल कर रही है.” उन्होंने बताया कि जांच प्रक्रिया शुरू हो गई है है. एडीजीपी ने बताया कि स्थानीय पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर मौजूद हैं.
हत्या के बाद बॉडी को जलाने की कोशिश
हैरानी की बात यह है कि यह घटना ऐसे समय में हुई है जब केंद्रीय गृह मंत्री जम्मू-कश्मीर के तीन दिवसीय दौरे पर हैं. बताया गया है कि डीजीपी दिलबाग सिंह समेत पुलिस के आला अधिकारी घटना स्थल पर पहुंच गए हैं. जानकारी के मुताबिक आईपीएस अधिकारी लोहिया के गले में चाकू मारी गई है. यह भी बताया जा रहा है कि उनकी संदिग्ध हत्या के बाद उनके बॉडी को जलाने की भी कोशिश की गई. उनके बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए जम्मू के सरकारी अस्पताल भेजा गया है.