ममता बनर्जी नहीं, वो मुमताज खान है… राम मंदिर के मुख्य पुजारी बंगाल की CM पर क्यों भड़के?

अयोध्या: अयोध्या श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास (Satyendra Das) ने पश्चिम बंगाल में साधुओं की पिटाई के वीडियो को लेकर सीएम (Mamta Banerjee) पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि वह ममता बनर्जी नहीं, बल्कि असल में हैं। वह भगवा रंग देखते ही भड़क जाती हैं। बंगाल में हिंदुओं पर हमले और अत्याचार के पीछे खुद वहां की सीएम का ही हाथ है। आचार्य दासस ने कहा, ‘यह किसी व्यक्ति ने पता नहीं कहां से इनका नाम निकाला था कि मुमताज खान जो हैं, वह इस समय की ममता बनर्जी हैं। यह पहले मुमताज खान ही रही होंगी। वहां बंगाल में ही हिंदू और साधुओं के ऊपर अधिक अत्याचार होता है। रामनवमी के जूलुस पर हमला होता है। दुर्गा माता की पूजा के लिए भी पंडाल में इस तरह की घटनाएं होती हैं। बंगाल में हिंदुओं के ऊपर ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इसके प्रतिकूल खुद वहां की मुख्यमंत्री ही हैं।’ उन्होंने कहा,’मुख्यमंत्री के दृष्टिकोण से दुर्गा पूजा, रामनवमी या जो भी हिंदू अनुष्ठान हैं, इन सबको वह नकारती हैं। इसलिए साधुओं का भगवा रूप देखकर उनको और भी अधिक क्रोध आ जाता है। इसलिए वह आक्रमण कराती हैं। यह खुद मुख्यमंत्री की देन है। इस तरह की घटनाएं बहुत दुखद और घोर निंदनीय हैं।’ पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले में साधुओं के समूह को कथित तौर पर भीड़ के पीटने का वीडियो वायरल हो रहा है। साधुओं की पिटाई के इस मामले को लेकर बीजेपी ने सत्ताधारी दल पर निशाना साधा है। पश्चिम बंगाल बीजेपी ने बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय की ओर से शेयर किए वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि ममता बनर्जी की गहरी चुप्पी शर्मशार करने वाली है। क्या ये साधु आपकी मान्यता के योग्य नहीं हैं? अत्याचार जवाबदेही की मांग करता है। हालांकि एनबीटी ऑनलाइन इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।