FIFA World Cup 2022 में ईरान की टीम ने नहीं गाया था राष्ट्रीय गान, टीम के कदम पर अब स्ट्राइकर मेहदी टरेमी ने दिया बड़ा बयान

फीफा विश्व कप 2022 के दौरान जब इंग्लैंड और ईरान की टीम के बीच मुकाबला हुआ, तब अजीब वाक्या हुआ है। मैच की शुरुआत में ईरान के किसी खिलाड़ी ने अपना राष्ट्र गान नहीं गाया। इस दौरान सभी खिलाड़ी शांत रहे। इसके पीछे एक खास वजह बताई जा रही है। इसी बीच ईरान के स्ट्राइकर मेहदी तारेमी ने कहा कि खिलाड़ियों द्वारा इंग्लैंड के खिलाफ विश्व कप में अपने पहले मैच में राष्ट्रगान गाने से इनकार करने के बाद राष्ट्रीय टीम पर कोई दबाव नहीं था। दरअसल ईरान की टीम ने तय किया था कि ईरान में प्रदर्शकारियों के समर्थन में फीफा विश्व कप के मैच के दौरान वो राष्ट्रीय गान नहीं गाएंगे।  ईरान के स्ट्राइकर मेहदी तारेमी ने कहा कि हमें किसी तरह का प्रेशर नहीं है। फुटबॉल टूर्नामेंट के दौरान फुटबॉल के अलावा किसी अन्य मुद्दे पर ध्यान नहीं देना चाहिए। हालांकि ईरान के कोच कार्लोस क़ुइरोज़ ने कहा कि मीडिया को खेलों से जुड़ी राजनीति पर सवाल पूछने का अधिकार है। हमें ईरान के इतिहास की परवाह करते हुए इन सवालों के जवाब देने से बचना चाहिए मगर पत्रकारों का काम सवाल पूछना है जिसे वो जारी रखेंगे। ये था मामलाइस दौरान जैसे ही खलीफा अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में राष्ट्रीय गान बजाया गया तो खिलाड़ी चुप्पी साधे खड़े रहे। इस दौरान स्टेडियम में मौजूद फैंस टीम के इस कदम से सहमति नहीं जता सके। उन्होंने खिलाड़ियों से तत्काल ही उनके कदम पर आपत्ति जता दी। इंग्लैंड के खिलाफ मुकाबले से पहले ईरान के खिलाड़ियों ने प्रदर्शन का समर्थन करने का फैसला किया था। इसे देखते हुए नेशनल एंथम गाने से खिलाड़ियों ने इंकार किया था। इस संबंध में ईरान की टीम के कप्तान अलीरेजा जहानबख्श ने कहा कि सभी खिलाड़ियों ने मिलकर ये तय किया कि सरकार के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन का समर्थन किया जाएगा या नहीं। वहीं जब स्टेडियम में राष्ट्र गान बजाया गया तो टीम के सभी 11 खिलाड़ियों ने चुप्पी साधे रखी। हालांकि टीवी पर इस पल को दिखाया नहीं गया है। बता दें कि ईरान में पुलिस कस्टडी में एक महिला की मौत होने के कारण बीते दो महीने से अधिक का समय बीतने के बाद भी लगातार प्रदर्शन किए जा रहे है।