ग्लोबल समिट-2023: मेजबानी के लिए तैयार है इंदौर, 65 देशों के प्रतिनिधि ले रहे हिस्सा

मध्य प्रदेश को भारत का दिल कहा जाता है. संभावित निवेशकों के लिए राज्य में निवेश का माहौल, बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने व विकास का एक नया युग लिखने के लिए शिवराज सरकार पूरी तरह तैयार है. इंदौर शहर में ‘इनवेस्ट मध्य प्रदेश – ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट’ होना है. यह समिट का 7वां संस्करण 11 – 12 जनवरी 2023 को इंदौर शहर में है. भारत का सबसे स्वच्छ राज्य और सबसे स्वच्छ शहर इस कार्यक्रम की मेजबानी कर रहा है. साल 2023 में भारतीय दिवस और G20 के कार्य समूह की महत्वपूर्ण बैठकें भी हैं.
इंदौर शहर में होने वाली समिट के कार्यक्रम का विषय “मध्य प्रदेश – भविष्य के लिए तैयार राज्य” है. इसके साथ ही कार्यक्रम ‘कार्बन न्यूट्रल’ और ‘जीरो वेस्ट’ भी रखे गए हैं. इस समिट के आयोजन के मुख्य उद्देश्य राज्य के औद्योगिक पारिस्थितिकी तंत्र को प्रदर्शित करना है. राज्य की नीतियों को बढ़ावा देना है. उद्योग अनुकूल नीतियां बनाने के लिए औद्योगिक संगठनों के साथ परामर्श करना है. राज्य में निवेश के लिए सहयोग के अवसर तलाशना है. इसके साथ ही निर्यात क्षमता को बढ़ावा देना है.
‘इन्वेस्ट मध्य प्रदेश – ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट’ मध्य प्रदेश का प्रमुख द्विवार्षिक निवेश प्रोत्साहन कार्यक्रम है. 2007 में संकल्पित, मध्य प्रदेश ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट दुनियाभर के निवेशकों और व्यापार समुदाय के लिए सबसे आशाजनक घटना बन गया है. यह दो दिवसीय कार्यक्रम संभावित सहयोग के अवसर प्रदान करता है.

राज्य के लिए बनेगा गेम चेंजर
GIS एक ऐसा मंच होगा जहां वैश्विक नेता, उद्योगपति और विशेषज्ञ उभरते बाजारों/प्रवृत्तियों पर अपने विचार साझा करने के लिए एक साथ आएंगे. इसके साथ ही निवेश क्षमता का दोहन करेंगे और फ्यूचर रेडी, मध्य प्रदेश की सफलता की कहानी का हिस्सा बनेंगे. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मध्य प्रदेश सरकार ने यह सुनिश्चित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है कि यह ‘मध्य प्रदेश जीआईएस निवेश करें’. राज्य के लिए गेम-चेंजर बन जाए. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने राज्य में निवेशकों को आमंत्रित करने के लिए दिल्ली, मुंबई, पुणे और बेंगलुरु में आयोजित रोड शो की अध्यक्षता भी की है. इसके अलावा, उन्होंने देशों के संभावित विदेशी निवेशकों के साथ भी बातचीत की है. ब्रिटेन और अमेरिका भी इस शिखर सम्मेलन से जुड़ रहे हैं.
विभिन्न देशों के प्रतिभागी होंगे शामिल
शिखर सम्मेलन में 65 से अधिक देशों के विदेशी प्रतिनिधिमंडल भाग लेंगे. इस कार्यक्रम में 20 से अधिक देशों के राजदूत/उच्चायुक्त/महावाणिज्य दूतावास/राजनयिक भाग लेंगे. अंतर्राष्ट्रीय स्तर में, 9 भागीदार देश और 14 अंतर्राष्ट्रीय व्यापार संगठन अपने देशों के विभिन्न पहलुओं का प्रदर्शन करेंगे. इस समिट के माध्यम से राज्य के निर्यातकों को संभावित विदेशी खरीदारों से जुड़ने का अवसर मिलेगा.