केरल तट पर डूब रही नौका से Indian Coast Guard ने 12 मछुआरों को बचाया

कोच्चि। भारतीय तटरक्षक बल ने यहां कोच्चि की एक नौका को डूबने से बचाया जिसमें 12 मछुआरे सवार थे। नौका का निचला हिस्सा पानी के भीतर क्षतिग्रस्त हो गया था और इसके भीतर बेतहाशा पानी भर गया था। शुक्रवार को एक अधिकारिक विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई। विज्ञप्ति में कहा गया है कि 11 जनवरी को कोच्चि के पास मुनंबम बंदरगाह से रवाना हुई नौका संजू में पानी घुस गया था, जिसके बाद भारतीय तटरक्षक बल (आईसीजी) को सहायता की गुहार लगाने के लि एक संकटकालीन कॉल की गयी। तटरक्षक बल ने नाव को पोन्नानी तट से लगभग 22 मील दूर से सफलतापूर्वक बचा लिया। आईसीजी ने बताया कि उसे बृहस्पतिवार को एक संकटपूर्ण कॉल मिली। इसके बाद उसने तुरंत जहाज आईसीजीएस आर्यमन, सी-404 और सी-144 और एक तटरक्षक उन्नत हल्के हेलीकॉप्टर को तैनात किया। आईसीजीएस आर्यमन की क्षति नियंत्रण टीम मछली पकड़ने वाली नौका पर चढ़ गई और उसने अभी तक हुई क्षति का का आकलन किया। टीम ने डीजल चालित और पानी के भीतर डूबने वाले पंपों की मदद से नौका में घुसे पानी को निकालने का प्रयास शुरू किया।  इसे भी पढ़ें: इस साल के आखिर तक चालू होगा Navi Mumbai अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा: Jyotiraditya Scindiaबारह घंटे तक अथक परिश्रम करने के बाद, टीम ने नौका के भीतर घुस रहे पानी पर सफलतापूर्वक काबू पाकर नाव को स्थिर किया। आईसीजी ने विज्ञप्ति में यह जानकारी दी। इसमें कहा गया है कि अभियान के दौरान मछली पकड़ने वाली नौका के चालक दल के सदस्यों को भोजन और प्राथमिक चिकित्सा प्रदान की गई। तटरक्षक जहाज आर्यमन मछली पकड़ने वाली नौका और उसके चालक दल को अपनी निगरानी में मुनंबम बंदरगाह तक वापस लाया। नाव और चालक दल को अझिकोड के मत्स्य विभाग के सहायक निदेशक को सौंप दिया गया।