हिंदुस्तान हमारा सच्चा दोस्त… तेल को तरस रही दुनिया, संकट में बांग्लादेश को डीजल देगा भारत

ढाका : बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने शनिवार को कहा कि ‘बांग्लादेश-भारत मैत्री पाइपलाइन’ देश में ईंधन सुरक्षा सुनिश्चित करने में एक अहम भूमिका निभाएगी। इस ईंधन पाइपलाइन का उद्घाटन ऐसे समय पर हो रहा है जब दुनिया के कई देश रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण गंभीर इंधन संकट से जूझ रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘जब दुनिया भर के कई देश रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण ईंधन संकट की कगार पर खड़े हैं, तब यह पाइपलाइन बांग्लादेश के लोगों की ईंधन सुरक्षा सुनिश्चित करने में एक बड़ी भूमिका निभाएगी। यह प्रोजेक्ट ईंधन के लिए बांग्लादेश की चीन पर निर्भरता को भी कम करेगा।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने औपचारिक रूप से शनिवार को इस पाइपलाइन का उद्घाटन किया। दोनों पड़ोसी देशों के बीच ऊर्जा क्षेत्र में सहयोग के एक हिस्से के रूप में 131.57 किलोमीटर लंबी ‘भारत-बांग्लादेश मैत्री पाइपलाइन’ के जरिए बांग्लादेश भारत से पेट्रोलियम खासकर, डीजल का आयात करेगा। हसीना ने कहा कि बांग्लादेश और भारत दोनों ने हाल के दिनों में द्विपक्षीय संबंधों से जुड़ी कई संभावनाओं को साकार किया है।16 जिलों में स्थिर रहेगी डीजल आपूर्ति उद्घाटन के मौके पर शेख हसीना ने कहा, ‘हमने अपनी सभी द्विपक्षीय समस्याओं को एक-एक करके सुलझा लिया है।’ उन्होंने कहा कि दोनों पड़ोसी देश अपने विकास के लिए मिलकर काम कर रहे हैं। हमें अपने विकास के लिए भारत से लगातार सहयोग मिल रहा है। ईंधन पाइपलाइन के बारे में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री ने कहा, ‘इस पाइपलाइन के जरिए भारत से डीजल आयात करने का समय और खर्च काफी कम हो जाएगा। देश के उत्तरी क्षेत्र के 16 जिलों में डीजल की आपूर्ति स्थिर रहेगी।’ शेख हसीना ने कहा, ‘भारत बांग्लादेश का सच्चा मित्र है।’दो दोस्तों के बीच ‘ट्रेडमार्क उपलब्धि’बांग्लादेश की प्रधानमंत्री ने इस पाइपलाइन को दो मित्र देशों के बीच सहयोग की ‘ट्रेडमार्क उपलब्धि’ बताया। उन्होंने कहा कि यह ईंधन सुरक्षा सुनिश्चित करने के अलावा आर्थिक विकास को भी बढ़ावा देगी। शेख हसीना ने उम्मीद जताई कि आने वाले दिनों में इस पाइपलाइन की तरह बांग्लादेश और भारत मिलकर कई और सफलताओं का जश्न मनाएंगे। यह पाइपलाइन भारत में 5 किमी और बांग्लादेश में 125 किमी तक फैली हुई है।