दिल्ली: पहलवानों के मार्च, किसानों-खाप पंचायत को देखते हुए पुलिस अलर्ट, बॉर्डर पर सख्त पहरा-बैरिकेडिंग

दिल्ली में नए संसद भवन के उद्घाटन के बीच भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ जंतर-मंतर पर धरना दे रहे पहलवानों ने आज नए संसद भवन तक मार्च निकालने का ऐलान किया है। पहलवानों के इस ऐलान को लेकर दिल्ली पुलिस सतर्क है। संसद भवन की ओर जाने वाले रास्तों पर कड़ी चौकसी बरती जा रही है। आईटीओ के पास भी बैरिकेडिंग की गई है।उधर, पहलवानों के समर्थन के समर्थन में आए किसान संगठन और खाप की एक पंचायत भी होनी है। ऐसे में दिल्ली पुलिस अलर्ट मोड में है। नए सांसद भवन के उद्घाटन कार्यक्रम के चलते पूरी दिल्ली को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। सिंघु बॉर्डर समेत दिल्ली के हर बॉर्डर पर बैरिकेडिंग कर आने-जाने वालों की जांच की जा रही है।दिल्ली बॉर्डर पर पुलिस के साथ पैरा मिलिट्री फोर्स के जवान भी तैनात हैं। महिला खाप पंचायत को देखते हुए सिंघु बॉर्डर पर महिला जवानों को भी तैनात किया गया है। नई दिल्ली की ओर जाने वाले सभी रास्तों पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। दिल्ली पुलिस ने टिकरी बॉर्डर पर भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। बैरिकेडिंग कर आने-जाने वालों की जांच की जा रही है।किसान नेता राकेश टिकैत ने आज दिल्ली कूच का ऐलान किया है। राकेश टिकैत ने एक दिन पहले कहा था कि पुलिस ज्यादा तंग ना करे, हम जाएंगे जरूर। उन्होंने यह कहा था कि अगर हमें यहां रोका गया तो हम यहीं बैठ जाएंगे। उन्होंने कहा कि किसान अब ट्रैक्टर की जगह अन्य वाहनों से दिल्ली बॉर्डर जाएंगे।बृजभूषण शरण सिंह की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पहलवानों के धरने को एक महीना हो चुका है। पहलवानों के समर्थन में खाप और किसान संगठनों ने सरकार को 15 दिन में कार्रवाई का अल्टीमेटम देते हुए बड़े आंदोलन की चेतावनी दी थी। किसान, खाप और पहलवानों की ओर से दिया गया अल्टीमेटम 21 मई को ही पूरा हो चुका है।