उमेश मर्डर केस में अतीक के करीबी जर्रार अहमद का एनकाउंटर, पैर में गोली लगी तो किया सरेंडर

फतेहपुर: उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में 25 हजार के इनामी बदमाश जर्रार अहमद को गिरफ्तार किया गया है। उमेश पाल मर्डर केस के बाद जर्रार अहमद का नाम चर्चा में आया था। इस मामले को लेकर पिछले दिनों फतेहपुर में सर्च ऑपरेशन चलाया गया। जर्रार फरार हो गया था। इसके बाद फतेहपुर में उसके भाई के मकान पर बुलडोजर एक्शन हुआ। अब जर्रार की गिरफ्तारी हो गई है। पुलिस ने एनकाउंटर के बाद जर्रार को गिरफ्तार किया। जर्रार अहमद के दाएं पैर में गोली लगी है। जर्रार को माफिया डॉन अतीक अहमद का करीबी बताया जाता है। उमेश पाल में हत्यारों की मदद का आरोप इस पर लगा है। ऐसे में उसकी गिरफ्तारी से पुलिस को अहम सुराग मिलने की उम्मीद है।जर्रार एनकाउंटर के मामले में पुलिस की ओर से जानकारी साझा की गई है। फतेहपुर पुलिस के अनुसार, जर्रार की तलाश लगातार चल रही थी। पुलिस को खखरेरू थाना क्षेत्र में जफर अहमद का लोकेशन पता चला था इसके बाद खखरेरू पुलिस और स्वाट टीम प्रथम ने उसकी गिरफ्तारी का ऑपरेशन चलाया पुलिस के एक्शन को देखते ही जर्रार अहमद की ओर से फायरिंग शुरू कर दी गई। जवाबी कार्रवाई में जर्रार के दाएं पैर में गोली लगी। शातिर माफिया अपराधी अतीक अहमद का करीबी और 25000 का इनामी बदमाश जर्रार अहमद को इसके बाद पुलिस के कब्जे में ले लिया।पुलिस ने दी एनकाउंटर की जानकारीफतेहपुर पुलिस की ओर से बताया गया है कि जर्रार अहमद के पास से हथियार और गोली- बारूद भी बरामद किया गया है। उसके कब्जे से एक एनपी बोर राइफल, दो खोखा और चार जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं। खखरेरू पुलिस और स्वाद टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी है। इससे उमेश पाल मर्डर केस में पुलिस को अहम सुराग जुटाने में मदद मिल सकती है। पुलिस के अनुसार, खखरेरू थाना क्षेत्र के कुल्ली गांव में यह एनकाउंटर हुआ है। माफिया अतीक अहमद के गुर्गे जर्रार अहमद के साथ एनकाउंटर के बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। हत्या समेत 8 केस हैं दर्जजर्रार अहमद हत्या का आरोपी है। उसके खिलाफ 8 केस दर्ज हैं। पुलिस ने उस पर 25000 का इनाम घोषित किया हुआ है। पुलिस अधिकारी ने इस मुठभेड़ के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कुल्ली गांव के जंगलों में काले बाबा की मजार के पास स्वाट टीम और खखरेरू थाना पुलिस ने कार्रवाई की। जर्रार के पिता और दोनों भाइयों पर भी कार्रवाई हुई है। पिछले दिनों जर्रार अहमद के भाई मोहम्मद अहमद ने सरेंडर किया था। उसके पास से अवैध हथियार बरामद किए गए थे। वह अभी जेल में बंद है। फतेहपुर एसपी राजेश कुमार सिंह के नेतृत्व में पूरे ऑपरेशन को चलाया गया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि जर्रार अहमद हिस्ट्रीशीटर है। उसके पास से भी अवैध हथियार बरामद किए गए हैं। मुठभेड़ में घायल होने के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।