मोदी की सभा में गहलोत से जनता हुई ‘बेजार’, फिर पीएम मोदी ने ऐसे दिलाया ‘सम्मान’

राजसमंद: राजस्थान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने भाषणों में कई बार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को अपना मित्र बता चुके हैं। बुधवार को भी एकबार फिर मंच से उन्होंने गहलोत को अपना मित्र कह कर पुकारा। लेकिन इस बार उन्होंने न सिर्फ मित्र कहा बल्कि मंच से ऐसा उदाहरण भी पेश किया जिसकी तारीफ अब कांग्रेसी भी कर रहे हैं। दअरसल, ये कार्यक्रम राजस्थान के नाथद्वारा में था। यहां 5500 रुपए की लागत के विकास कार्याें का लोकार्पण करने पीएम मोदी पहुंचे थे। इस अवसर पर प्रधानमंत्री, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, राज्यपाल कलराज मिश्र, राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी भी मंच पर मौजूद थे। लेकिन जैसे ही गहलोत अपने भाषण के लिए उठते हैं तो जनता मोदी मोदी के नारे लगाना शुरू देती है। तब मोदी ने कुछ ऐसा किया जिसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। गहलोत जैसे ही कुर्सी से उठे गूंज उठा मोदी-मोदी…मंच पर गहलोत अपने संबोधन के लिए कुर्सी से उठे ही थे कि मोदी मोदी के नारे लगने लगे। इस वक्त मोदी ने गहलोत के संबोधन के समय मोदी मोदी के नारे लगाने वाले लोगों को शांत रहने को कहा। मंच से दोनों हाथों से जनता को चुप करने की कोशिश की। फिर भी मोदी मोदी के नारे नहीं रुके तो उन्होंने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी की ओर इशारा किया। प्रधानमंत्री का इशारा मिलते ही सीपी जोशी मंच पर खड़े हुए और जनता से शांत रहने की अपील की। उधर, मोदी के इस अंदाज को देखकर गहलोत भी सहज दिखे और अपना संबोधन जारी रखा। नाथद्वारा कार्यक्रम का यह वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसके बाद भाजपा ही नहीं कांग्रेस कार्यकर्ता भी मोदी की तारीफ कर रहे हैं। 7 महीने में 5वीं बार राजस्थान पहुंचे मोदीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर राजस्थान दौरे पर पहुंचे थे। पिछले 7 महीने में यह उनका पांचवां दौरा था। इससे पहले वे 30 सितंबर 2022 को आबूरोड आए थे और तब उन्होंने देरी की वजह से फिर आने का वादा किया था। इसके बाद वो 1 नवंबर को बांसवाड़ा के मानगढ़ धाम और 28 जनवरी 2023 को भीलवाड़ा के आसिंद पहुंचे थे। आसिंद में देवनारायण जयंती कार्यक्रम में शामिल हुए थे। जबकि 12 फरवरी को दौसा में आयोजित विकास परियोजनाओं के लोकार्पण कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे।