इंदौर में 11 साल की बच्ची पर चली गोली, इलाज के दौरान मौत; मां संग गई थी गरबा देखने

मध्य प्रदेश के इंदौर में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया. यहां गरबा कार्यक्रम में एक 11 साल की मासूम की गोली लगने से मौत हो गई. बताया जा रहा है कि बच्ची मां की गोद में बैठी थी, गरबा पंडाल में लोगों का डांस देख रही थी. तभी अचानक उसके सिर से खून बहने लगा. परिजन आनन फानन बच्ची को लेकर नजदीकी अस्पताल पहुंचे. डॉक्टरों ने गोली लगने की जानकारी दी. बुधवार सुबह करीब 10 बजकर 30 मिनट पर बच्ची ने इलाज के दौरान दम तोड़ा दिया. वहीं, मामले में अभी तक पुलिस आरोपी तक नहीं पहुंच सकी है. इलाके के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज पुलिस खंगालने में लगी है.
घटना हीरा नगर थाना क्षेत्र के मां शारदा नगर की है. यहां की रहने वाली 11 वर्षीय माही पुत्री संतोष शिंदे नवरात्रि में आयोजित गरबा पंडाल में छोटे भाई और मां के साथ बैठी थी. तभी अचानक उसके सिर में कोई चीज आकर लगी. बच्ची के सिर से खून बहने लगा और परिजन बच्ची को निजी अस्पताल लेकर पहुंचे. यहां उपचार के दौरान बच्चे की मौत हो गई. मेडिकल सिटी स्कैन रिपोर्ट आने के बाद परिजन भी हैरान हो गए.
बच्ची के सिर में गोली लगने की बात सामने आई है. सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए एमवाय अस्पताल भिजवाया. वहीं, घटनास्थल के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं. थाना हीरा नगर उपनिरीक्षक कमल किशोर ने बताया कि अगर गोली चलने से बच्चे की मौत हुई होगी तो वैधानिक रूप से कार्रवाई की जाएगी. मामले की छानबीन जारी है.
पुलिस के सुराग तलाशना चुनौती, छाया मातम
पुलिस मामले में घटनास्थल के सीसीटीवी फुटेज खंगालने में लगी है. वहीं, मृतका के पिता ने भी बयान में बताया है कि गरबा पंडाल में किसी तरह की कोई गोली चलने की आवाज सुनाई नहीं पड़ी और न ही कोई गोली मारता नजर आया. बस एक पटाखे जैसी आवाज ही सुनाई दी थी. मृतका के पिता ने यह भी बताया कि हर साल बेटी इस गरबा पंडाल में आती थी, लेकिन इस बार उसकी जान ही चली गई.
उधर, घटना के बाद से ही इलाके में दहशत जैसा माहौल है. खुलेआम गोली चलने की घटना से लोगों में डर बना हुआ है. वहीं, त्योहार के बीच मासूम बेटी की मौत से शिंदे परिवार में मातम छाया हुआ है. दशहरे पर बेटी की मौत से मृतका की मां टूटी सी गई है. वहीं, छोटा भाई भी गुमसुम है.