दम है तो रोक लो… हार्दिक पंड्या अब हर तरह से विरोधियों के लिए बनेंगे काल

मेलबर्न: आईसीसी टी20 विश्व कप 2022 के पहले मैच में भारत ने पाकिस्तान को 4 विकेट से धोकर शानदार शुरुआत की है। टीम इंडिया की इस जीत में गेंदबाजों के अलावा विराट कोहली और हार्दिक पांड्या ने भी महत्वपूर्ण निभाई। हार्दिक ने विराट कोहली के साथ उस समय पारी को संभाला जब पावर प्ले में टीम इंडिया ने अपने चार विकेट गंवा दिए। मैच में हार्दिक ने 37 गेंद में 40 रनों की मजबूत पारी खेली, जिसमें उन्होंने दो छक्का और एक चौका भी लगाए। बल्लेबाजी के हार्दिक ने गेंदबाजी में भी अपना कहर बरपाया था। हार्दिक ने मैच में तीन विकेट भी हासिल किए।

इस मैच से पहले को कुछ साल पहले कोई अंदाजा नहीं था कि उनका भविष्य क्या होगा लेकिन एक बार असफलता का भय निकल गया तो उन्हें अपना यह स्वरूप पसंद आने लगा। गेंदबाजी फिटनेस हासिल करने के लिये रिहैबिलिटेशन करने के बाद उन्होंने प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी की और नयी टीम गुजरात टाइटन्स को इंडियन प्रीमियर लीग का खिताब दिलाया और भारत के लिये कुछ महत्वपूर्ण हरफनमौला प्रदर्शन किया।

बल्कि इस साल उनके दो सबसे महत्वपूर्ण प्रदर्शन में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ रहे जिसमें उन्होंने खेल के दोनों विभागों में अच्छा प्रदर्शन किया।

पंड्या ने कहा, ‘ऐसा भी समय था जब मैं नहीं जानता था कि हार्दिक के लिए अगली चीज क्या है। इसलिए मुझे अपनी सोचने की प्रक्रिया में काफी शामिल होना पड़ा और फिर मैंने खुद से पूछा कि आप जिंदगी से क्या चाहते हो?’

उन्होंने कहा, ‘मैंने असफलता का डर निकाल दिया और आगे क्या होने वाला है या फिर नतीजा क्या होगा, इससे परेशान नहीं होता कि लोग क्या कहेंगे लेकिन मैं लोगों की राय का सम्मान करता।’ अगर पंड्या को करीब से देखें तो 2018-19 और अब 2022 में उनके रवैये में काफी अंतर दिखता है।