अखिलेश राजधर्म निभाते तो योगी जेल में होते… कांग्रेस बोली- सपा-बीजेपी में अंदरखाने है गठबंधन

नोएडा: उत्तर प्रदेश के नोएडा में बुधवार को अल्पसंख्यक कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष मुहम्मद अहमद ने के उस बयान की निंदा की, जिसमें उन्होंने कहा था कि सपा सरकार में योगी आदित्यनाथ की फाइल उनके सामने आई थी लेकिन उन्होंने उस पर कार्रवाई नहीं की। उन्होंने कहा कि अखिलेश ने राजधर्म का पालन नहीं किया। उनका यह बयान सपा और भाजपा के गुप्त समझौते को प्रमाणित करता है। इतना ही नहीं, अहमद ने कहा कि अखिलेश यादव और उनके दिवंगत पिता मुलायम सिंह यादव ने हमेशा बीजेपी और उसके नेताओं को बढ़ावा दिया ताकि उत्तर प्रदेश का मुस्लिम समाज भयभीत रहे और बीजेपी के डर से मुसलमान सपा को वोट देते रहें।

मुहम्मद अहमद ने कहा कि सपा और बीजेपी एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। इससे पहले भी अनेक उदहारण सपा और बीजेपी के आंतरिक गठबंधन के सामने आए हैं और अब पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के इस बयान से मुसलमानों को पूरी तरह समझ लेना चाहिए कि सपा और अखिलेश यादव के सहयोग के चलते ही आज उत्तर प्रदेश में बीजेपी सत्ता में है और योगी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं। अगर उन्होंने राजधर्म निभाया होता तो सपा शासन काल में हुए अनेकों दंगों की निष्पक्ष जांच होती और देश तथा प्रदेश में नफरत फैलाने वाले और भड़काऊ भाषण देने वाले नेताओं पर मुकदमा दर्ज हुआ होता। वे उन मुकदमों में जेल में होते।

मुहम्मद अहमद ने अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव का ये बयान निंदनीय है कि मुख्यमंत्री काल में उनके सामने भी योगी की फाइल आई थी लेकिन उन्होंने अधिकारियों से एफआईआर दर्ज न करने और मामलों को बन्द कर देने का निर्देश दिया था। अखिलेश यादव का ये बयान सपा और भाजपा के बीच गुप्त समझौते को प्रमाणित करता है। अखिलेश यादव और इससे पहले उनके पिता मुलायम सिंह यादव ने हमेशा बीजेपी और उसके नेताओं को बढ़ावा दिया ताकि उत्तर प्रदेश का मुस्लिम समाज भयभीत रहे और बीजेपी के डर से मुसलमान सपा को वोट देते रहें।

गौतमबुद्ध नगर अल्पसंख्यक कांग्रेस के नव नियुक्त जिला चेयरमैन जावेद अली खान ने कहा कि अब प्रदेश के मुसलमानों को यह भी समझना होगा कि जब तक वो सपा को वोट देते रहेंगे भाजपा को हराना नामुमकिन है क्योंकि उनके सपा को वोट करने के कारण ही न चाहते हुए भी गैर सपाई पिछड़ों, अतिपिछड़ों, दलितों व सवर्णो का बड़ा हिस्सा भाजपा को वोट करता है। यही भाजपा की ताकत का राज है।

रिपोर्टः मनीष सिंह