ICICI Bank ने इस खास FD स्कीम की ब्याज दर घटाई, पहले से इतना कम हो गया रिटर्न

प्राइवेट सेक्टर के बैंक, आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) सीनियर सिटीजन के लिए चलाई जाने वाली स्पेशल एफडी स्कीम पर ब्याज दर घटा दी है. यह बैंक सीनियर सिटीजन के लिए अपनी स्पेशल स्कीम गोल्डन ईयर्स एफडी चलाता है. इस स्कीम पर 10 बेसिस पॉइंट ब्याज दर में कमी की गई है. इस स्कीम में सीनियर सिटीजन को अब अतिरिक्त 10 बेसिस पॉइंट ही ब्याज मिलेगा. पहले 20 बेसिस पॉइंट ब्याज मिलता था. अभी सीनियर सिटीजन के लिए आईसीआईसीआई बैंक अतिरिक्त 50 बेसिस पॉइंट ब्याज देता है. उससे 10 बेसिस पॉइंट अधिक ब्याज गोल्डन ईयर एफडी पर दिया जा रहा है.
आईसीआईसीआई बैंक के मुताबिक, 5 साल से 10 साल की स्पेशल एफडी गोल्डन ईयर स्कीम पर सीनियर सिटीजन को अतिरिक्त 10 बेसिस पॉइंट ब्याज की पेशकश की जा रही है. इस नए बदलाव के बाद गोल्डन ईयर्स एफडी स्कीम में सीनियर सिटीजन को 6.7 परसेंट ब्याज मिल रहा है. एफडी की नई दर 30 सितंबर से लागू कर दी गई है.
क्या हैं नई दरें
आईसीआईसीआई बैंक ने कहा है कि गोल्डन ईयर एफडी पर नई दरें दोनों तरह की स्की पर मिलेंगी. नई खोली जाने वाली एफडी और पुरानी एफडी को रिन्यू कराने पर सीनियर सिटीजन को 6.7 फीसद ब्याज दिया जाएगा. एक खास बात ये ध्यान रखना है कि गोल्डन ईयर्स एफडी स्कीम 7 अक्टूबर 2022 तक ही चलेगी. इसलिए 7 अक्टूबर तक ये स्पेशल एफडी खाता खोला जा सकता है या पुराने फिक्स्ड डिपॉजिट खाते को रिन्यू किया जा सकता है. स्पेशल एफडी स्कीम 2 करोड़ रुपये तक की एफडी के लिए लागू है और इसकी अवधि 5 साल एक दिन से 10 साल तक है.
आईसीआईसीआई गोल्डन ईयर्स एफडी में समय से पहले खाता बंद करने का भी विकल्प है, लेकिन इसके लिए 1.10 परसेंट का जुर्माना देना होगा. यह जुर्माना तब के लिए है जब एफडी को 5 साल एक दिन के बाद बंद किया जाए.
नई दरें कब से लागू
आईसीआईसीआई बैंक ने अभी हाल में कुछ खास अवधि वाली एफडी पर 25 बेसिस पॉइंट तक ब्याज दरों में इजाफा किया है. 2 करोड़ रुपये तक की एफडी पर ब्याज दरें बढ़ाई गई हैं. नई दरें 30 सितंबर, 2022 से लागू हैं. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 30 सितंबर 2022 को रेपो रेट में 50 बेसिस पॉइंट की वृद्धि की जिसके बाद आईसीआईसीआई बैंक ने एफडी की दरों में इजाफा किया. इस साल मई से लेकर सितंबर तक रेपो रेट में 190 बेसिस पॉइंट तक की वृद्धि की गई है. इसी के साथ रेपो रेट तीन साल के उच्चतर स्तर 5.9 परसेंट पर पहुंच गया है.
अभी और बढ़ेंगे रेट
रेपो रेट बढ़ने के बाद देश के कई बैंकों ने एफडी रेट में वृद्धि की है. इन बैंकों में एक्सिस बैंक, बैंक ऑफ इंडिया और आरबीएल के नाम हैं. जानकारों का कहना है कि जब तक महंगाई दर कम नहीं होती, तब तक रेपो रेट बढ़ने की संभावना है. ऐसी स्थिति में सबसे अधिक फायदा एफडी वालों को होगा. एक अनुमान के मुताबिक एफडी रेट 8 परसेंट तक पहुंचने वाला है और बाद में यह 9 परसेंट तक जा सकता है. इस तरह एफडी में निवेश अभी सही सौदा साबित हो रही है.