12 किमी तक कार में कैसे फंसी रही लड़की? पुलिस ने दिए पहेली बने सवालों के जवाब

नई दिल्‍ली: कंझवाला केस में दिल्‍ली पुलिस का आध‍िकार‍िक बयान आया है। उसने बताया है कि मामले में जल्‍दी ही फॉरेंसिक जांच की जाएगी। मेडिकल बोर्ड का गठन किया जा रहा है। सभी 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इंवेस्टिगेशन अभी शुरुआती चरण में है। स्‍पेशल सीपी सागर प्रीत हुड्डा ने इस बारे में उन सभी सवालों के जवाब द‍िए ज‍िनका इंतजार था। घटना शनिवार और रविवार की दरम्यानी रात की है। इवेंट प्लानर का काम करने वाली एक युवती को सुल्तानपुरी इलाके में कई किलोमीटर तक घसीटा गया। परिवार वालों को इस घटना में साजिश का शक है। परिवार के सदस्यों और समर्थकों ने सोमवार को सुल्तानपुरी पुलिस स्टेशन के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। आइए, यहां जानते हैं क‍ि पुल‍िस का इस मामले में क्‍या बयान आया है।

मामले में किन्‍हें किया गया है गिरफ्तार?
स्‍पेशल सीपी ने बताया कि कार में सवार पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। उनकी पहचान दीपक खन्ना, अमित खन्ना, कृष्ण, मिट्ठू और मनोज मित्तल के रूप में हुई है।

कैसे हुई वारदात, कितनी दूरी तक खींचा गया?
पुलिस के अनुसार, मामले की जांच शुरुआती चरण में है। लड़की को 10-11 किमी तक घसीटा गया। पुलिस ने विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया है। मामलें में फॉरेंसिक टीम की मदद ली जा रही है। जांच के लिए टीमें गठित कर दी गई है। पुलिस लगातार पीड़िता के परिवार के संपर्क में है।

आगे क्‍या करने वाली है पुलिस?
अभियुक्तों को 3 दिन की रिमांड में लिया गया है। पुलिस जल्द से जल्द जांच पूरी करके चार्जशीट दाखिल करेगी। सारे सबूत इकट्ठा करके अभियुक्तों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी। फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल), रोहिणी की पांच सदस्यीय टीम उस स्थान की जांच करेगी, जहां युवती का शव मिला था।

किन धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है?
सागर प्रीत हुड्डा ने बताया कि मामले में 279, 304ए, 120बी के तहत मामला दर्ज किया गया है। मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट आने के बाद इसमें अन्‍य धाराओं को जोड़ा जा सकता है।

कहां जा रहे थे अभियुक्‍त, लड़की कहां से आ रही थी?
पुलिस ने बताया कि अभी इसे लेकर जांच जारी है। अभियुक्‍तों के बयान वेरिफाई किए जा रहे हैं। उसने आगे कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया।

अब तक क्‍या हुआ है?
बीस वर्षीय युवती की दर्दनाक मौत के बाद परिवार के सदस्यों और समर्थकों ने सोमवार को सुल्तानपुरी पुलिस स्टेशन के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। लड़की को एक कार में सवार पांच युवकों ने कई किलोमीटर तक घसीटा था। घटना शनिवार और रविवार की दरम्यानी रात की है। इवेंट प्लानर का काम करने वाली युवती के परिवार वालों को इस घटना में साजिश का शक है। परिजनों ने बताया कि वह शाम करीब साढ़े छह बजे घर से निकली थी। 31 दिसंबर को उसका फोन लगभग 10 बजे बंद पाया गया। मृतक की मां ने कहा, ‘मेरी रात करीब 9 बजे उससे बातचीत हुई, उसने कहा कि वह लगभग 3-4 बजे वापस आ जाएगी। हमें सुबह पुलिस ने उसकी दुर्घटना के बारे में सूचित किया। मुझे पुलिस स्टेशन ले जाया गया और इंतजार कराया गया।’

दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने भी सोमवार को पुलिस से यह स्पष्ट करने को कहा कि क्या महिला का यौन उत्पीड़न किया गया था और क्या आरोपी का आपराधिक इतिहास था। स्कूटी के दुर्घटनाग्रस्त होने से महिला की दर्दनाक मौत हो गई और उसके कपड़े एक कार के पहिए में फंस गए, जिसके कारण उसे बाहरी दिल्ली के सुल्तानपुरी इलाके में कई किलोमीटर तक घसीटा गया। घटना में महिला के कपड़े फटे हुए थे और बाद में उसका नग्न शरीर पुलिस को मिला।