चोरी और सीनाजोरी… आतंकवाद पर भारत के खिलाफ डॉजियर बांट रहा पाकिस्तान, हिना रब्बानी ने उगला जहर

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने आतंकवाद के मुद्दे पर एक बार फिर भारत के खिलाफ जमकर जगह उगला है। पाकिस्तानी विदेश राज्य मंत्री ने आरोप लगाया कि भारत आतंकवाद का इस्तेमाल करता है। इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी दावा किया कि भारत बलूच उग्रवादियों को संरक्षण प्रदान करता है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने बाकायदा एक फर्जी डॉजियर भी बनाया है, जिसे वह अपने पसंद के मुल्कों के साथ साझा कर रहा है। इसके एक दिन पहले पाकिस्तानी आंतरिक मंत्री राणा सनाउल्लाह ने लाहौर के जौहर टाउन में हाफिज सईद के घर के पास हुए विस्फोट का ठीकरा भारत पर फोड़ा था। उन्होंने दावा किया था कि इस विस्फोट के मास्टरमाइंड भारत से हैं और भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के एजेंट थे।

भारत की प्रगति से जल रहा पाकिस्तान

हिना रब्बानी खार ने कहा कि आतंकवाद शांति के लिए एक गंभीर खतरा है। पाकिस्तान लंबे समय से इस संकट का शिकार रहा है। उन्होंने आगे कहा कि काश मैं यहां आपसे बात करने के लिए होता कि सार्क कैसे समृद्ध हो रहा है, क्षेत्रीय संपर्क कैसे हो रहा है। उन्होंने बिना नाम लिए भारत पर निशाना साधते हुए कहा कि आज हम ऐसी जगह पर खड़े हैं, जहां आतंकवाद के अपराधी खुद को उसके सबसे बड़े शिकार होने का दावा कर रहे हैं। भारत इस महीने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता कर रहा है। ऐसे में हिना रब्बानी ने आरोप लगाया कि आतंकवाद के अपराधी काल्पनिक बातें कर सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष के तौर पर ढोल पीट रहे हैं।

भारत के खिलाफ सबूत होने का किया दावा

खार ने दावा किया कि उनके पास भारत के खिलाफ काफी सबूत हैं। उन्होंने कहा कि हमने तब तक इंतजार किया जब तक हमारे पास आज जो मामला बना रहे हैं, उसे साबित करने के लिए हमारे पास पुख्ता सबूत नहीं थे। उन्होंने आरोप लगाया कि लाहौर में हुई घटना में एक आतंकवादी हमले का एक स्पष्ट सबूत था। उन्होंने दावा किया कि इसे भारत से नियोजित और समर्थित किया गया था। भारत को ज्ञान देते हुए हिना रब्बानी खार ने फिल्मों का डॉयलाग बोलने से भी परहेज नहीं किया। खार ने कहा कि जब कोई अपने पड़ोसी के घर को जलाने की कोशिश करेगा, तो आग आएगी और उन्हें भी जला देगी। उन्होंने यह भी कहा कि भारत पाकिस्तान के प्रति शत्रुता और नापाक उद्देश्यों को पूरा करने के लिए आतंकवाद का इस्तेमाल करता है।

पाकिस्तान और आतंकवाद पुराने दोस्त

पूरी दुनिया इस बात को जानती है कि 9/11 हमले का दोषी अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन कहां मिला था। 26/11 मुंबई हमले में शामिल आतंकवादी किस देश से आए थे। कश्मीर में आतंकवाद का स्पान्सर देश कौन सा है। ऐसे में पाकिस्तानी नेताओं के मुंह से खुद को आतंकवाद का पीड़ित बताना और दूसरे देश के आतंकवाद में शामिल होने के दावे हास्यास्पद लगते हैं। आतंकवाद पाकिस्तान की स्टेट पॉलिसी है। पाकिस्तानी सेना और आईएसआई आतंकवादियों को पालने-पोसने पर हर साल करोड़ों रुपये खर्च करती हैं।