हाथ पकड़ा, बेड पर धकेला, टी-शर्ट ऊपर करने की कोशिश की… महिला कोच के मंत्री संदीप सिंह पर नए आरोप, सैलजा ने साधा निशाना

चंडीगढ़: हरियाणा सरकार में मंत्री पर जूनियर महिला कोच में नए आरोप लगाए हैं। इसमें महिला कोच में छेड़खानी से आगे का खुलासा करते हुए कहा है कि तत्कालीन खेल मंत्री ने बलात्कार की कोशिश की थी। एक यू-ट्यूब चैनल को दिए इंटरव्यू में महिला कोच में कहा है कि मैंने अभी तक ये बातें सामने नहीं रखी थी। संदीप सिंह ने मेरे साथ छेड़खानी ही नहीं बल्कि मेरा हाथ पकड़ा था और बेड पर पुश किया था। इसके अलावा उन्होंने टी-शर्ट ऊपर करने की कोशिश की थी। महिला कोच में कहा है कि संदीप सिंह उन्हें थप्पड़ भी मारा था तो बदले में मैंने भी अपना बचाव करते थप्पड़ मारा था। जूनियर महिला कोच का यह इंटरव्यू विधानसभा में हुए हंगामे के बाद का है। जिसमें सरकार ने संदीप सिंह का इस्तीफा लेने से मना कर दिया था। सैलजा ने सीएम से मांगा जवाब जूनियर महिला कोच के इस वीडियो को कांग्रेस नेता ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि मुख्यमंत्री जी सुनिए इस बेटी की पीड़ा को, किस तरह से आपके मंत्री ने इसे Harass किया। ये सुनने के बाद भी क्या आप यही कहेंगे, “इस्तीफा नही लिया जाएगा”? अगर ऐसा है तो आपसे ज्यादा संवेदनहीन कोई नहीं हो सकता और फिर आपको एक मिनट भी पद पर रहने का कोई हक नहीं है। एक और बात मुख्यमंत्री जी इस बेटी को इंसाफ मिलकर रहेगा, इसे अकेला समझने की भूल मत करिएगा, मैं हरियाणा की बेटी के साथ हमेशा खड़ी मिलूंगी।कोच के सनसनीखेज आरोप कोच ने इंटरव्यू में खुलासा किया है कि संदीप सिंह ने उसे दस्तावेजों की जांच के लिए चंडीगढ़ स्थित सरकारी आवास बुलाकर रेप करने की कोशिश की थी। उसने दावा कि जब वह उसके घर पहुंची तो उसके स्टाफ से वॉशरूम पूछा। तो स्टाफ ने उसे बेडरुम के वॉशरूम में भेज दिया। जब वह बाहर आई तो संदीप सिंह बाथरूम के सामने खड़े थे। उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और बेड पर पुश किया। इसके बाद मैं बेड पर गिर गई और वह भी इस दौरान बेड पर आ गया। कोच का दावा है कि सरकारी आवास पर हुई घटना के दौरान मंत्री ने बाथरूम मेरे साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की थी। जब मैं रोने लगी। तब मंत्री ने कहा कि स्पोर्ट्स वाली लड़कियां वर्जिन नहीं होती हैं। 16 सितंबर को है कोर्ट में सुनवाई विधानसभा में संदीप सिंह के इस्तीफे की मांग को लेकर हंगामा देखने को मिला था। तब सरकार ने कहा था कि कोर्ट में है ऐसे में इस मुद्दे पर कुछ भी कहना ठीक नहीं होगा। ने संदीप सिंह को 16 सितंबर के लिए नोटिस जारी किया है. कोर्ट इस दिन चार्जशीट के आधार पर संदीप सिंह पर आरोप तय करने की प्रक्रिया शुरू करेगा। संदीप सिंह के खिलाफ केस दर्ज होने पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 1 जनवरी को खेल विभाग वापस ले लिया था। तो वहीं पार्टी संगठन की मीटिंग मे संदीप सिंह दिखाई नहीं देते हैं। जूनियर महिला कोच के नए आरोपों ने संदीप सिंह की मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। सीएम ने बतौर मंत्री संदीप सिंह को प्रिटिंग एंड स्टेशनरी विभाग दे रखा है। इस हाईप्रोफाइल मामले में अगली सुनवाई 16 सितंबर को कोर्ट में होनी है। पिछले साल दर्ज हुआ था केस जूनियर महिला कोच में पिछले साल 26 दिसंबर 2022 को हरियाणा के मंत्री संदीप सिंह के खिलाफ यौन-उत्पीड़न सहित अन्य आरोप के तहत चंडीगढ़ पुलिस में शिकायत दी थी। शिकायत की जांच के 31 दिसंबर की रात 11 बजे सेक्टर 26 थाने में खेल मंत्री संदीप सिंह के खिलाफ IPC की धारा 342, 354, 354 A, 354 B, 506 के तहत पुलिस ने मामला दर्ज किया था। इस मामले को लेकर विपक्षी दलों ने मंत्री संदीप सिंह के इस्तीफे की मांग की थी, लेकिन मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सिर्फ उसने खेल विभाग ले लिया था। हरियाणा सरकार के खेल विभाग ने कोच को निलंबित कर दिया था। तो वहीं दूसरी कोच का आरोप है कि उन्हें स्टेडियम में भी नहीं जाने दिया जा रहा है। इससे उनकी प्रैक्टिस प्रभावित हो रही है।