Rajasthan: क्या दूर कर ली गई सचिन पायलट की नाराजगी? कांग्रेस की अहम बैठक के बाद युवा नेता का बड़ा बयान

पार्टी प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे, राहुल गांधी सहित शीर्ष कांग्रेस नेताओं ने गुरुवार को राजस्थान पार्टी के नेताओं के साथ रणनीति और चुनाव तैयारियों पर विचार-विमर्श किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच विवाद को सुलझाने की भी कोशिश की गई। महाराष्ट्र में एनसीपी के तख्तापलट के बीच इस अहम बैठक को प्रतिद्वंद्वियों-गहलोत और पायलट के बीच खींचतान को खत्म करने का एक बड़ा प्रयास माना गया। इसे भी पढ़ें: Rajasthan: बैठक के बाद बोले केसी वेणुगोपाल, मिलकर लड़ेंगे चुनाव, सितंबर में जारी होगी उम्मीदवारों की लिस्टपायलट ने क्या कहाकांग्रेस की रणनीति बैठक के बाद सचिन पायलट ने कहा कि हमने खुले दिमाग से सभी मुद्दों पर चर्चा की। सभी ने विश्वास जताया कि हम राजस्थान में दोबारा सरकार बना सकते हैं। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनावों के लिए एक बैठक बुलाई गई थी। पिछले 25 सालों से राज्य में एक बार भाजपा और एक बार कांग्रेस का जो चलन चल रहा है इसे खत्म करने के लिए बहुत ही सार्थक व्यापक और महत्वपूर्ण चर्चा हुई है। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि सभी ने विश्वास व्यक्त किया है कि हम अपनी सरकार को रिपीट कर सकते हैं।  इसे भी पढ़ें: NCP में विभाजन विपक्षी एकता में बना बाधा! बेंगलुरु में होने वाली बैठक स्थगित, बताया गया यह कारण सितंबर में जारी होगी उम्मीदवारों की लिस्टराजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी की तैयारियों पर कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि सितंबर के पहले सप्ताह में उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी नेताओं के लिए अनुशासन बेहद जरूरी है। मीडिया में किसी भी तरह का बयान देने से बचना होगा। उन्होंने कहा कि आज इस बैठक में सीएम और पीसीसी चीफ समेत राजस्थान कांग्रेस के 29 नेता शामिल हुए। सभी नेताओं ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि कांग्रेस राजस्थान चुनाव जीत सकती है, बशर्ते राजस्थान कांग्रेस में एकजुटता हो। आज सभी नेताओं ने एकजुट होकर चुनाव लड़ने का फैसला किया। जीतने की क्षमता के आधार पर उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा। उम्मीदवारों की सूची सितंबर के पहले सप्ताह में घोषित की जाएगी।