फरीदाबाद या गुड़गांव में साइंस सिटी बनाएगी हरियाणा सरकार, CM मनोहर लाल खट्टर ने किया ऐलान

फरीदाबाद: नए साइंटिफिक रिसर्च और इनोवेशन को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा सरकार फरीदाबाद या गुड़गांव में 50 एकड़ में साइंस सिटी बनाएगी। इसके लिए जमीन की तलाश की जा रही है। शनिवार को फरीदाबाद पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस संबंध में घोषणा की। ट्रांसलेशनल हेल्थ साइंस और टेक्नॉलजी इंस्टिट्यूट में आयोजित 9वें इंडिया इंटरनैशनल साइंस फेस्टिवल के समापन पर मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे सीएम ने कहा कि युवाओं के मन में साइंस को लेकर उत्सुकता होती है। एक सामान्य व्यक्ति भी अपनी उत्सुकता को लेकर चीजों को आगे बढ़ाने का काम कर सकता है। उन्होंने नांगला के रहने वाले धर्मवीर की कहानी सुनाई। बताया कि दिल्ली की सड़क पर रिक्शा चलाने वाले धर्मवीर दुर्घटना के बाद अस्पताल में भर्ती हो गए थे। इसके बाद खुद का दिमाग चलाते हुए मशीनरी चलाने के बारे में सोचने-समझने लगे। राष्ट्रपति भवन में बौछार से सिंचाई करने के बारे में बताया, जिसके बाद इन्हें राष्ट्रपति पुरस्कार मिला।हर ज़िले में बनाए जा रहे साइंस क्लबमुख्यमंत्री ने कहा कि साइंस की शिक्षा को प्रोत्साहित करने के लिए हर जिले के 10 राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों में साइंस क्लब बनाए जा रहे हैं। क्लब युवा छात्रों के बीच साइंटिफिक सोच व जागरूकता पैदा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। प्रदेश के मेधावी वैज्ञानिकों को प्रोत्साहित करने के लिए उन्हें हरियाणा विज्ञान रत्न और युवा विज्ञान रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है। राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर आयोजित समारोह में 2019, 2020 व 2021 के लिए 11 वैज्ञानिकों को सम्मानित किया गया है। हरियाणा विज्ञान रत्न पुरस्कार की राशि दो लाख से बढ़ाकर चार लाख रुपये की गई है।25 वर्ष में विश्व का नेतृत्व करने की तैयारीफेस्टिवल के अंतिम दिन डिपार्टमेंट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी के सचिव अभय करंदीकर ने कहा कि भारत अमृतकाल में देश की क्षमताओं से अगले 25 साल में विश्व का नेतृत्व करने के लिए तैयार हो रहा है। विज्ञान भारती के संगठन सचिव शिव कुमार शर्मा ने कहा कि भारत साइंस के क्षेत्र में नया कीर्तिमान गढ़ रहा है। 500 छात्र-छात्राओं ने प्रोटोटाइप सैटेलाइट लॉन्च किया। बताया गया कि पहले फेस्टिवल में शामिल हुए स्टूडेंट्स आज युवा साइंटिस्ट हैं। फेस्टिवल साइंस व रिसर्च के लिए परिस्थितियां निर्माण करने का काम कर रहा है। हरियाणा सरकार के उच्च शिक्षा व परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि शिक्षा को गति देने का काम मुख्यमंत्री कर रहे हैं।