हनुमा विहारी की डेविड जैसी बेइज्जती, कप्तानी से हटते ही प्लेइंग-11 से भी कर दिया बाहर

नई दिल्ली: भारतीय टीम से बाहर चल रहे मध्यक्रम के बल्लेबाज हनुमा विहारी के लिए कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। हनुमा के साथ ठीक वैसा ही हुआ जैसा कुछ साल पहले डेविड वॉर्नर के साथ सनराइजर्स हैदराबाद में हुआ था जब उन्हें कप्तानी से हटाने के बाद प्लेइंग इलेवन से भी बाहर कर दिया गया था। ठीक ऐसा ही आंध्र प्रदेश के लिए घरेलू क्रिकेट खेलने वाले हनुमा विहारी के साथ हुआ है। टीम की कप्तानी से हटाने के साथ ही उन्हें प्लेइंग इलेवन से भी बाहर कर दिया गया। हालांकि, यह कहा जा रहा है कि हनुमा ने स्वेच्छा से टीम की कप्तानी छोड़ी है लेकिन प्लेइंग इलेवन से बाहर किए जाने के बाद अब मामला अलग नजर आ रहा है। हनुमा विहारी की जगह रिकी भुई को आंध्र प्रदेश की कप्तानी सौंपी गई है। क्रिकबज से बात करते हुए टीम के मैनेजर जुगल किशोर घिया ने बताया कि हनुमा ने अपनी मर्जी से कप्तानी छोड़ी है। घिया ने बताया कि टीम में कोई विवाद नहीं है। लेकिन, जो लोग आंध्र के क्रिकेट को करीब से देखते हैं, उनकी कप्तानी बदलने की ये वजह नहीं मानते हैं। माना जा रहा है कि पिछले हफ्ते विशाखापट्टनम में पहले मैच के दौरान विहारी ने एक बैकअप खिलाड़ी पर गुस्सा निकाला था। उस खिलाड़ी के पिता, जिन्हें एक प्रभावशाली व्यक्ति माना जाता है, ने कप्तान के खिलाफ एसोसिएशन में शिकायत दर्ज कराई। सरत चंद्र रेड्डी की अध्यक्षता वाली आंध्र क्रिकेट एसोसिएशन ने इस शिकायत को गंभीरता से लिया और चयनकर्ताओं को मजबूर किया कि वह विहारी को हटाकर किसी और को कप्तान बनाएं। यह खिलाड़ी हालांकि इस मुंबई मैच के लिए 15 खिलाड़ियों में शामिल है, लेकिन प्लेइंग इलेवन में नहीं है।विहारी ने मुंबई मैच से पहले आंध्र के लिए 30 मैच खेले थे और सभी में कप्तानी की थी। उनकी सफलता की दर भी काफी अच्छी है। वह 2000 से ज्यादा रन बनाने वाले 10 आंध्र बल्लेबाजों में से एक हैं (2262) और उनका औसत भी शानदार 53 का है। हालांकि, आंध्र क्रिकेट के कुछ लोगों के बीच विहारी को बाहरी व्यक्ति माना जाता है क्योंकि वह पहले हैदराबाद के लिए 40 मैच खेल चुके हैं।एक बड़ा वर्ग केएस भरत को कप्तान बनाना चाहता है, जो फिलहाल इंडिया ए के लिए खेल रहे हैं। वह टीम के सफेद गेंद के कप्तान भी हैं। कुछ लोग अंडर-19 विश्व कप के उप-कप्तान शेख रशीद को कप्तान बनाना चाहते हैं। रशीद अब टीम के नए उप-कप्तान हैं।