‘हैंग टिल डेथ’ हर देश में नहीं होता लागू… जानिए सजा-ए-मौत देने के 7 खतरनाक तरीके!

किसी अपराध के लिए जो सबसे बड़ी सजा होती वो होती है कैपिटल पनिशमेंट यानी मौत की सजा। किसे ये सजा दी जाएगी ये अपराध के नेचर और उस देश के कानून के मुताबिक तय होता है। पूरी दुनिया 97 देश ऐसे हैं जो पूरी तरह से सजा-ए-मौत को खत्म कर चुके हैं, लेकिन 58 देशों में कैपिटल पनिशमेंट () को लॉ एंड ऑर्डर सही रखने के लिहाज से बेहद अहम माना जाता है। सजा-ए-मौत के 7 तरीके?फांसी की सजाहमारे देश में वैसे तो कैपिटल पनिशमेंट के मामले बेहद कम होते जा रहे हैं, लेकिन अभी यहां रेयरेस्ट ऑफ रेयर (Rarest of rare) मामलों के लिए सजा-ए-मौत के तौर पर फांसी दी जाती है। भारत में मौत की सजा देने के लिए सिर्फ फांसी का ही तरीका अपनाया जाता है, लेकिन अलग-अलग देशों में ये अलग होता है। भारत की तरह ही 33 अन्य देशों में भी सिर्फ फांसी को ही कैपिटल पनिशमेंट के लिए चुना गया है, जबकि 25 ऐसे देश हैं दूसरे और तरीकों के साथ-साथ फांसी को भी अपनाते हैं। सिंगापुर और ईरान में भी फांसी की सजा दी जाती है। फायरिंग की सजादुनिया में मौत की सजा देने के लिए जो तरीका सबसे ज्यादा कॉमन है वो है फायरिंग। यानी अगर किसी अपराधी का जुर्म साबित होता है और उसे कोर्ट से मौत की सजा मिलती है तो उसपर गोली दागकर उसे मौत दी जाएगी। 73 देशों के कानून में मौत देने का तरीका अपनाया जाता है, जिसमें से अमेरिका भी एक है। इसके अलावा इंजेक्शन देकर सजाइंजेक्शन देकर भी कई देशों में कैपिटल पनिशमेंट होती है। मौत की सजा देने के लिए दोषी को जहरीला इंजेक्शन दे दिया जाता है और कुछ ही पलों में उसकी मौत हो जाती है। अमेरिका में इस तरीके की सबसे पहले शुरूआत हुई थी। अब चीन, थाइलैंड, वियतनाम में भी मौत की सजा देने के लिए इस तरीके को अपनाया जा रहा है। बिजली का करंटबिजली का करंट देकर सिर्फ दो ही देशों में अपराधी को मौत की सजा दी जाती है। इनमें से एक देश है अमेरिका और दूसरा देश है फिलीपींस। इसमें अपराधी को एक चेयर में बांधकर बिठा दिया जाता है। फिर उस चेयर में करंट की तार जोड़ दी जाती है और तय वक्त पर प्लग ऑन करके दोषी को मौत दे दी जाती है। सिर कलम करनामौत देने का एक और तरीका भी जो कि गल्फ कंटरीज में अपनाया जाता है और वो है सिर कलम करना। अरब देशों में कोई अगर दोषी पाया जाता है तो मौत की सजा के तौर पर उसका सिर कलम कर दिया जाता है। पहले उसकी आंखों में पट्टी बांधी जाती है और फिर धारदार हथियार से उसका सिर धड़ से अलग कर दिया जाता है। तीन देश मौत देने के इस तरीके को सही मानते हैं।पत्थर मारकर मौत देनादुनिया के 6 देश आज भी ऐसे हैं जहां पर मौत की बेहद खतरनाक सजा मुकर्रर है। अपराधी को तब तक पत्थर मारे जाते हैं जब तक उसकी मौत न हो जाए। इस सजा को हटाने को लेकर कई बार प्रदर्शन होते है। ह्यूमन राइट कमिशन अक्सर इस सजा को हटाने की मांग करते हैं, लेकिन बावजूद इसके कुछ इस्लामिक देशों में ये आज भी लागू होता है।एक देश में मौत के कई तरीकेअमेरिका समेत कई और देश भी ऐसे हैं जिनमें सजा देने के लिए एक से ज्यादा तरीके अपनाए जाते हैं। अमेरिका में चार तरह से मौत की सजा दी जाती है। फायरिंग, फांसी, इंजेक्शन और करंट। चीन में मौत देने के दो लीगल तरीके हैं एक फायरिंग और दूसरा इंजेक्शन देना। अगफगानिस्तान और सूडान भी तीन तरीके से मौत की सजा देता है फायरिंग, पत्थर मारकर और फांसी के जरिए। सबसे ज्यादा मौत की सजा देने वाले देशमौत की सजा को खत्म करने के लिए लगातार मांगे उठती रहती है। दुनिया भर में कैपिटल पनिशमेंट खत्म करने को लेकर मानव आयोग लगातार काम कर रहा है, लेकिन कुछ देशों में इस सजा के मामले काफी ज्यादा हैं। सजा-ए-मौत को लेकर साल 2020 के आंकड़े मौजूद हैं। इन आंकड़ों के मुताबिक ईरान मौत की सजा देने में नंबर वन है। यहां 246 लोगों को ये सजा सुनाई गई। दूसरे पर है मिस्र यहां 2020 में 107 लोगों को सजा-ए-मौत दी गई। तीसरा नंबर इराक का था यहां भी एक साल में 45 लोगों को मौत की सजा दी गई। चौथे नंबर पर सऊदी अरब था जहां 27 लोगों को कैपिटल पनिशमेंट मिली जबकि पांचवे नंबर पर अमेरिका था। अमेरिका में साल 2020 में 45 लोगों को मौत की सजा सुनाई गई।