‘इरफान पर ऐक्‍शन होता तो बिटिया बच जाती…’, वायरल वीडियो के बाद फांसी लगाने वाली लड़की के पिता का छलका दर्द

नई दिल्‍ली: नगर पालिका खोड़ा के संगम विहार में फांसी लगाकर जान देने वाली लड़की के पिता का बयान आया है। उन्‍होंने कहा है कि इस मामले में पुलिस ने बहुत हीला-हवाली की। इरफान नाम के जिस लड़के के कारण उनकी बेटी ने जान दी, उस पर समय से कार्रवाई नहीं हुई। ऐसा होता तो मासूम की जान बच सकती थी। इरफान ने इंस्‍टाग्राम पर इस लड़की का एक आपत्तिजनक वीडियो पोस्‍ट कर दिया था। इसके वायरल होने के बाद लड़की ने फांसी लगा ली थी। यह लड़की 12वीं क्‍लास में पढ़ती थी। उसकी उम्र सिर्फ 18 साल थी। वीडियो के वायरल होते ही पिता ने इसकी शिकायत दर्ज कराई थी।

लड़की के पिता ने बताया कि उनके सामने यह मामला शनिवार को सामने आया था। उन्‍होंने उसी दिन इसकी शिकायत पुलिस से की। यहां उन्‍हें बताया गया कि मामला दिल्‍ली के अंतर्गत आता है। वह लड़के की तलाश करें। पुलिस भी उसकी तलाश कर रही है। पिता के मुताबिक, पुलिस ने वायरल हो रहे वीडियो को डिलीट कराने का भी प्रयास नहीं किया। जब इरफान को पता चला कि यह मामला तूल पकड़ने लगा है तो उसने खुद ही इसे डिलीट कर दिया।

लड़की के पिता ने कहा कि मामले में पुलिस हीला-हवाली करती रही। अगर पुलिस ने समय रहते इरफान के खिलाफ ऐक्‍शन लिया होता तो यह नौबत नहीं आती। उनकी बच्‍ची की जान बच सकती थी।

मामला गाजियाबाद के खोड़ा जिले का है। सोमवार देर रात यहां एक छात्रा ने फांसी लगाकर जान दे दी थी। बताया जाता है कि इरफान नाम का यह लड़का लड़की से छेड़छाड़ भी करता था। लड़के के हौसले लगातार बढ़ते गए। फिर उसने छात्रा का एक आपत्तिजनक वीडियो फेसबुक पर पोस्‍ट कर दिया। वीडियो के वायरल होने के बाद परिजनों ने पुलिस को इसकी शिकायत दर्ज कराई। लड़के के खिलाफ कोई ऐक्‍शन न होता देख सोमवार रात साढ़े दस बजे लड़की ने फांसी लगा ली। इस मामले में पुलिस की भूमिका पर सवाल उठ रहे हैं।