चार राज्यों को जुड़ेगा ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस- वे, दिल्ली से मुंबई तक मात्र 12 घंटे में सड़क के रास्ते सफर होगा पूरा

केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को कहा कि मंत्रालय पांच ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे का निर्माण कर रहा है, जिससे मध्यप्रदेश को फायदा होगा. उन्होंने कहा कि इनमें से एक दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे का निर्माण लगभग दिसंबर तक पूरा हो जाएगा. इस हाइवे के बनने से दिल्ली से मुंबई तक सड़क मार्ग से केवल 12 घंटे में यात्रा की जा सकेगी.गडकरी ने रीवा जिले में 2443.89 करोड़ रुपए लागत की कुल 204.81 किलोमीटर लंबी सात सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण/ शिलान्यास करते हुए जिले के बरसैता गांव में यह बात कही.
इस दौरान उन्होंने रीवा-सीधी राष्ट्रीय राजमार्ग पर मोहनिया घाटी में 1004 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 2.82 किलोमीटर लंबी सुरंग का लोकार्पण भी किया.उन्होंने कहा, खेती के विकास के साथ ही औद्योगिक विकास भी होना चाहिए. इसके लिए पानी, ऊर्जा, परिवहन एवं संचार जरूरी है। इसलिए हम (केंद्र सरकार) पांच ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे का निर्माण कर रहे हैं.
12 घंटे में दिल्ली से मुंबई बाई रोड
गडकरी ने आगे कहा, दिल्ली से मुंबई केवल 12 घंटे में आप जा सकेंगे.इस हाइवे का निर्माण लगभग दिसंबर तक पूरा हो जाएगा. यह एक्सप्रेसवे एक लाख करोड़ रुपये लागत वाला तथा 1,382 किलोमीटर लंबा है.उन्होंने कहा कि ये हाइवे मध्यप्रदेश के लिए बहुत उपयोगी होगा.गडकरी ने कहा कि इसके साथ ही अटल प्रोग्रस हाइवे का काम भी जल्द शुरू होगा. इस हाइवे को पहले चंबल एक्सप्रेस हाइवे के नाम से जाना जाता था.
अटल प्रोग्रेस-वे 415 किलोमीटर लंबा होगा
उन्होंने कहा कि 15,000 करोड़ रुपये लागत वाला यह अटल प्रोग्रेस-वे 415 किलोमीटर लंबा होगा और यह उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश तथा राजस्थान के पिछड़े क्षेत्र से होकर गुजरेगा इसकी लंबाई 306 किलोमीटर मध्यप्रदेश में, 37 किलोमीटर उत्तरप्रदेश में और 72 किलोमीटर राजस्थान में होगी.गडकरी ने कहा कि यह एक्सप्रेसवे चंबल नदी के साथ-साथ इटावा से भिंड, मुरैना एवं कोटा (राजस्थान) में जाकर दिल्ली-मुंबई हाइवे पर मिलेगा, जो मध्यप्रदेश के विकास के लिए बहुत उपयोगी होगा.
कोटा में दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे से जुड़ेगा
उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि इस एक्सप्रेसवे को इटावा में बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे और लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे से जोड़ा जाएगा और यह कोटा में दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे से जुड़ेगा.इस कार्यक्रम के दौरान मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह भी मौजूद थे.गडकरी ने कहा कि इन पांच एक्सप्रेसवे के पास लॉजिस्टिक पार्क और औद्योगिक क्षेत्र विकसित किया जाने चाहिए.
इंदौर से हैदराबाद तक बनेगा छह लेन हाईवे
उन्होंने कहा कि इंदौर से हैदराबाद तक 687 किमी लंबा छह लेन का एक नया हाईवे बनाने जा रहे हैं, जो 2024 तक बनकर तैयार हो जाएगा.उन्होंने चौहान की मांग पर नर्मदा परिक्रमा पथ के सभी अधूरे लिंक को पूरा करने की घोषणा की. साथ ही कहा कि प्रदेश के सभी सड़क परिवहन संबंधी प्रस्तावों को मंजूरी दी जाएगी.उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत विशाल आर्थिक शक्ति बनेगा और उसमें मध्यप्रदेश का महत्वपूर्ण योगदान होगा.