सरकार का बड़ा फैसला, स्मॉल सेविंग स्कीम्स पर बढ़ गया ब्याज

नई दिल्ली : छोटी बचत योजना में निवेश करने वालों के लिए बड़ी खबर है। सरकार ने स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स पर ब्याज दरों (Small Savings Schemes Interest Rate) को बढ़ा दिया है। इनमें सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (SCSS), सुकन्या समृद्धि (SSY) और नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) जैसी योजनाएं आती हैं। सरकार ने इन योजनाओं पर ब्याज दरों में 0.70 फीसदी तक का इजाफा किया है। अप्रैल से जून 2023 की तिमाही के लिए ये बढ़ी हुई ब्याज दरें लागू होंगी। हालांकि, पीपीएफ पर ब्याज को नहीं बढ़ाया गया है।छोटी बचत योजनाओं पर मोटा ब्याजवित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को एक सर्कुलर जारी कर यह घोषणा की है। इससे सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम्स, मंथली इनकम सेविंग्स स्कीम्स, नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट, किसान विकास पत्र, सभी पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट और सुकन्या समृद्दि अकाउंट स्कीम पर ब्याज दर बढ़ गई है।वित्त वर्ष 2023-24 की पहली तिमाही के लिये ये रहेंगी दरेंसीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम्स के लिए ब्याज दर 8 फीसदी से बढ़कर 8.2 फीसदी हो गई है। किसान विकास पत्र के लिए ब्याज दर 7.2 फीसदी से बढ़कर 7.5 फीसदी हो गई है। साथ ही सरकार ने एक, दो, तीन और पांच साल के टाइम डिपॉजिट्स के लिए भी ब्याज दरों को बढ़ाया है। मंथली इनकम अकाउंट स्कीम्स पर ब्याज दर को 7.1 फीसदी से बढ़ाकर 7.4 फीसदी कर दिया गया है।सुकन्या समृद्धि में 8 फीसदी मिलेगा ब्याजनेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट के लिए ब्याज दर 7 फीसदी से बढ़कर 7.7 फीसदी हो गई है। वहीं, सुकन्या समृद्धि स्कीम्स (Sukanya Samriddhi scheme Interest Rate) में अब निवेशकों को 7.6 फीसदी की बजाय 8 फीसदी ब्याज दर मिलेगी।पीपीएफ पर नहीं बढ़ा ब्याजसरकार ने पब्लिक प्रोविडेंट फंड पर ब्याज दरों (PPF Interest Rate) में कोई बढ़ोतरी नहीं की है। पीपीएफ पर पहले की तरह ही ब्याज मिलता रहेगा। पीपीएफ योजना में इस समय 7.1 फीसदी ब्याज दर मिल रही है।