डाकघरों में बिना दावे के 25,480 करोड़ रुपये जमा, प्रश्नकाल के दौरान राज्यसभा में सरकार ने कहा

नयी दिल्ली। सरकार ने शुक्रवार को राज्यसभा को सूचित किया कि देश के डाकघरों के विभिन्न खातों में बिना दावे के 25,480 करोड़ रुपये जमा हैं और वह संबंधित परिवारों से संपर्क कर उन्हें राशि लौटाने के लिए प्रयास कर रही है। संचार राज्य मंत्री देवू सिंह चौहान ने उच्च सदन में प्रश्नकाल के दौरान पूरक सवालों के जवाब में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि डाकघर खातों में बिना दावे के 25,480 करोड़ रुपये की राशि जमा है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में डाक विभाग ने पहल की है और ऐसे लोगों के परिवारों से संपर्क कर उन्हें उनकी राशि देने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले साल मार्च में ऐसे खातों से 1,240 करोड़ रुपये वापस किए गए जबकि दिसंबर में 1319 करोड़ रुपये परिजनों को लौटायी गयी। चौहान ने कहा कि डाक खातों में 1.43 लाख करोड़ रुपये जमा हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार हर पांच किलोमीटर पर और दुर्गम क्षेत्रों में तीन किलोमीटर की दूरी पर लोगों को डाक सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि इस प्रयास के तहत करीब 5,700 नए डाकघर खोले गए हैं और 5000 नए डाकघर खोले जाने हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के दौरान देश में 634 डाकघरों को बंद कर दिया गया था। उन्होंने कहा कि ग्रामीण डाक सेवकों को सरकारी कर्मियों की तरह सभी सुविधाएं मिलती हैं। उन्होंने बताया कि देश भर में अभी 1.64 लाख डाकघर हैं जिनमें 1.49 लाख डाकघर ग्रामीण क्षेत्रों में हैं जबकि 15,000 डाकघर शहरी इलाकों में हैं।