खुशखबरी आई है! UP में शिक्षकों की रुकी भर्ती आगे बढ़ेगी, जल्द मिलेगा चयन आयोग को नया अध्यक्ष

लखनऊ: यूपी में भर्तियों की गाड़ी को फिर से ट्रैक पर लाने की कोशिशें तेज हो गई हैं। इस कड़ी में रुकी शिक्षक भर्तियों को भी आगे बढ़ाने पर नजर है। शिक्षा सेवा चयन आयोग के अध्यक्ष की नियुक्ति की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। माना जा रहा है कि जल्द ही आयोग को स्थायी अध्यक्ष मिल जाएगा। प्रदेश में बेसिक, माध्यमिक, प्राविधिक, उच्च शिक्षा, अल्पसंख्यक कॉलेजों सहित सभी संस्थानों में शिक्षकों की भर्ती को एक छतरी के नीचे लाने के लिए शिक्षा सेवा चयन आयोग का गठन किया गया है। इस कवायद में पांच साल से भी अधिक समय निकल चुका है। 2019 में अधिनियम पास किया गया था, लेकिन इसकी अधिसूचना जारी नहीं की गई थी। बाद में इसमें नए बदलाव करते हुए पिछले साल नए ड्राफ्ट को मंजूरी दी गई और उसे सदन से पास कराया गया। इसके बाद से आयोग के गठन और सदस्यों के नियुक्ति की प्रक्रिया आगे बढ़ाई जा चुकी है। सदस्य नियुक्त, सर्च कमिटी तय करेगी अध्यक्ष का पैनलचुनाव के पहले ही आयोग के काम-काज को शुरू करने के लिए प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा एमपी अग्रवाल को कार्यवाहक अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई थी। आयोग की नियमावली का अंतिम रूप देने, कार्यप्रणाली तय करने के लिए आयोग की बैठकें भी हो चुकी हैं। चुनाव के पहले आयोग के सदस्य व अध्यक्ष की नियुक्ति के लिए विज्ञापन भी निकाला गया था, जिसमें 900 से अधिक आवेदन आए थे। इसके आधार पर 12 सदस्यों की नियुक्ति भी की जा चुकी है, लेकिन अध्यक्ष के लिए उपयुक्त चेहरा नहीं तय हो पाया। पहली बार 30 आवेदन आए थे, लेकिन कोई उपयुक्त नहीं पाया गया। इसके बाद 13 मार्च को फिर विज्ञापन जारी किया गया। अप्रैल के दूसरे सप्ताह तक आवेदन लिए गए। इसी बीच 16 मार्च को लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लग गई। इसके चलते प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ सकी। उच्च शिक्षा विभाग के एक अधिकारी का कहना है कि मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली सर्च कमिटी को नामों पर विचार करके उसकी संस्तुति सीएम को भेजना है। जल्द ही यह कवायद पूरी कर ली जाएगी। पिछले दिनों नियुक्ति एवं कार्मिक विभाग के साथ ही विभिन्न आयोगों के अध्यक्षों के साथ बैठक में भी सीएम ने शिक्षा सेवा चयन आयोग के अध्यक्ष की नियुक्ति जल्द करने के निर्देश दिए थे। आयोग में प्रतिनियुक्ति के आधार पर नियुक्ति किए जाने वाले चार उपसचिवों के लिए भी आवेदन प्रक्रिया चल रही है। जून के आखिर तक इसके लिए आवेदन लिए जाएंगे।14 लाख से अधिक अभ्यर्थियों का लंबा इंतजारआयोग के काम-काज शुरू करने के बाद नई भर्तियों की प्रक्रिया तो आगे बढ़ेगी ही 14 लाख से अधिक अभ्यर्थियों का लगभग दो साल से चल रहा इंतजार भी खत्म होगा। एडेड माध्यमिक स्कूलों में सहायक अध्यापक (टीजीटी) और प्रवक्ता (पीजीटी) के लिए 4163 पदों पर भर्ती के लिए माध्यमिक शिक्षा सेवा आयोग ने अगस्त 2022 में ही आवेदन लिए थे। लेकिन, नए आयोग के गठन की कवायद शुरू होने के बाद भर्ती पर विराम लग गया। आवेदन करने वाले 13 लाख से अधिक अभ्यर्थी प्रक्रिया शुरू होने की बाट जोह रहे हैं। दूसरी ओर, एडेड डिग्री कॉलेजों में असिस्टेंट प्रफेसर के 1017 पदों के लिए आवेदन करने वाले 1 लाख से अधिक अभ्यर्थी भी भर्ती आगे बढ़ने का लगभग दो साल से इंतजार कर रहे हैं। यह मामला हाईकोर्ट भी पहुंच चुका हैं। जहां, उच्च शिक्षा विभाग ने जल्द ही नए आयोग के गठन और उसके जरिए भर्ती का हलफनामा भी दे चुका हे।