रतन टाटा की लड़ाई में बकरी की मौत, अब काटेंगे जेल की सजा

एमपी अजब है सबसे गजब है. क्योंकि यहां के किस्से भी अजब गजब है. मध्य प्रदेश के जबलपुर से एक बार फिर एक अजीबो गरीब मामला सामने आया है. जहां रतन टाटा की लड़ाई में दो बकरी की मौत हो गई. आपको सुनकर यह आश्चर्य जरूर लग रहा होगा. वहीं, रतन चक्रवर्ती की शिकायत पर पुलिस ने टाटा चढ़ार के खिलाफ दो बकरी चोरी की एफआईआर दर्ज की थी. जिस पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भिभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जेल भेज दिया है.
दरअसल, यह पूरा मामला जबलपुर जिले के चरगवां थाना क्षेत्र के मिर्गा गांव का है. जहां चरगवां थाना प्रभारी विनोद पाठक ने जानकारी देते हुए बताया कि मिर्गा के रहने वाले रतन चक्रवर्ती ने पुलिस थाने पहुंचकर मुकदमा दर्ज कराया है.उन्होंने बताया कि उसकी दो बकरियां चोरी हो गई है और उसे बकरी चोरी करने का शक गांव के ही टाटा और सुखराम चढ़ार के ऊपर है. जिस पर पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच-पड़ताल शुरू कर दी.
पूछताछ में आरोपी टाटा ने कबूला जुर्म
इस मामले में पुलिस ने टाटा उर्फ सुखराम चढ़ार को हिरासत में लेते हुए पूछताछ शुरू की तो टाटा ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया. पूछताछ के दौरान टाटा उर्फ सुखराम चढ़ार ने बताया कि उसने ही रतन की दोनो बकरियां चुराई है. ऐसे में चोरी का नाम न आए इसलिए सबूत छुपाने के लिए उसने रतन की दोनों बकरियों को रानी अवंती बाई नहर में फेंक दिया, जिस पर टाटा द्वारा बताई गई जगह से पुलिस ने दोनों बकरियों के शव को बरामद करते हुए पूरे मामले में विधिवत पंचनामा कार्रवाई कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.
पुलिस ने आरोपी के खिलाफ FIR की दर्ज
इस दौरान फरियादी रतन चक्रवर्ती ने बताया कि आरोपी टाटा उससे बुराई रखता है. इस कारण से ही उसने बकरी चोरी को अंजाम दिया है. रतन का कहना है कि बकरियां ही उसकी आजीविका का साधन थी. जिसे भी टाटा ने छीन लिया. बहरहाल चरगवां पुलिस ने पूरे मामले में आरोपी टाटा के खिलाफ धारा 379 एवं 429 के तहत मामला दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया है.
पालतू कुत्ते ने एक बकरी के बच्चे को बनाया था निशाना
वहीं, पिछले दिनों भी चरगवां थाना क्षेत्र के भड़पुरा गांव में भी ऐसा अजीबोगरीब मामला सामने आया था. जहां पालतू कुत्ते ने एक बकरी के बच्चे को अपना निशाना बना लिया था. वहीं, कुत्ते के काटने पर बकरी के बच्चे की मौत हो गई. इसके बाद गांव में रहने वाले एक दंपत्ति बकरी के बच्चे को लेकर पुलिस थाने पहुंच गई थी और स्ट्रीट डॉग के मालिक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी.
मृत बकरी के बच्चे को गोद में लेकर पहुंची बबीता बाई रजक ने पुलिस को बताया कि उसका बकरी का बच्चा घर में ही खेल रहा था. उसी बीच गांव के रहने वाले टक्कल बर्मन के डॉग ने आकर उसे काट लिया था, जिसके कारण उसकी मौत हो गई, जब इस बात की शिकायत टक्कल से की तो वह लड़ने पर उतारू हो गया. जिसके कारण वह शिकायत करने के लिए पुलिस थाने आए हैं. वहीं, बबीता के पति छुट्टू रजक का कहना था कि उसके मेमने को टक्कल को कुत्ते ने मारा है. इसके खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई की जाए.