जेंटलमैन vs माननीय मैडम: लोकसभा में स्मृति इरानी से क्यों भिड़ गए कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी?

नई दिल्ली: क्या किसी को ‘जेंटलमैन’ कहकर संबोधित करना असंसदीय या अपमानजनक है? आप फैसला करते रहिए, लेकिन जान लीजिए कि लोकसभा में एक सांसद को ‘जेंटलमैन’ कहे जाने पर हंगामा मच गया। केंद्रीय मंत्री ने बीजू जनता दल (BJD) के सांसद चंद्रशेखर साहू के लिए ‘जेंटलमैन’ शब्द का उपयोग किया तो सदन में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने तुरंत आपत्ति जता दी। फिर तो हंगामे की स्थिति पैदा हो गई। दरअसल, महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति इरानी ने बीजेडी सांसद को सदन में आमतौर पर उपयोग किए जाने वाले संबोधन ‘माननीय सदस्य’ के स्थान पर ‘जेंटलमैन’ कहा। जब कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी ने इसका विरोध किया तो उनके कुछ और सदस्य समर्थन में उतर गए।

प्रश्नकाल के दौरान हंगामा

बीजू जनता दल के सांसद चंद्रशेखर साहू प्रश्नकाल के दौरान महिला एवं बाल विकास मंत्रालय से संबंधित पूरक प्रश्न पूछ रहे थे और इसका जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने उन्हें ‘जेंटलमैन’ कहकर संबोधित किया। इस पर आपत्ति व्यक्त करते हुए कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि उक्त सांसद इस सदन के सदस्य हैं और इस तरह से ‘जेंटलमैन’ कहना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि मंत्री को ‘माननीय सदस्य’ कहना चाहिए।

अधीर रंजन पर स्मृति इरानी का कटाक्ष

इस मुद्दे पर बार-बार टोकाटोकी करने पर स्मृति इरानी ने कहा कि ऐसा लगता है कि वह (अधीर रंजन) अपने राजनीतिक आकाओं को प्रभावित करने का प्रयास कर रहे हैं और सदन में हंगामा करके शाबाशी लेना चाहते हैं। मंत्री ने कहा, ‘मैं इन जेंटलमैन (अधीर रंजन) को कहना चाहती हूं कि उन्हें जान लेना चाहिए कि उनकी बात उनके आकाओं तक पहुंच गई है।’ इस दौरान निचले सदन में कांग्रेस की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी मौजूद थीं।

सांसद ने मंत्री को कहा- माननीय मैडम

जब बीजू जनता दल के सांसद साहू ने दूसरा पूरक प्रश्न पूछा तब उन्होंने स्मृति इरानी को ‘माननीय मैडम’ भी कहकर संबोधित किया। इसके बाद साहू के प्रश्न का उत्तर देते हुए स्मृति इरानी ने कहा कि ‘माननीय जेंटलमैन से उन्हें सम्मानपूर्वक ‘मैडम’ कहकर संबोधित किया है, इसके लिये वह उनकी आभारी हैं।’ इस पर अधीर रंजन चौधरी ने इरानी द्वारा सदस्य को पुन: ‘जेंटलमैन’ कहे जाने पर फिर आपत्ति व्यक्त की और कुछ सदस्यों ने उनका समर्थन किया।

अधीर रंजन को भी कह दिया ‘जेंटलमैन’

वहीं, इरानी ने कहा कि उन्हें सदस्य (बीजद सांसद) द्वारा सम्मान प्रदर्शित किए जाने के कारण राजनीतिक तौर पर परेशान किया जा रहा है। उन्होंने अधीर रंजन को भी ‘जेंटलमैन’ कहा। इरानी ने कहा कि एक ‘जेंटलमैन’ द्वारा इस प्रकार से सदन में खड़े होकर एक महिला को परेशान करना उपयुक्त नहीं है, और वह भी तब जब संसद में स्वतंत्र रूप से अभिव्यक्ति की पैरोकारी की जाती है।

तब स्मृति ने कहा था- लेडी मेंबर और हुआ था विवाद

इससे पहले भी केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी को सदन में ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ा था। इसी वर्ष अप्रैल में लोकसभा में स्मृति इरानी द्वारा एक महिला सांसद को ‘लेडी मेंबर’ संबोधित करने पर कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी तथा तृणमूल कांग्रेस के सौगत रॉय ने आपत्ति व्यक्त की थी। तब प्रश्नकाल के दौरान वाईएसआरसीपी सदस्य गीता विश्वनाथ के पूरक प्रश्न का उत्तर देते हुए इरानी ने उन्हें ‘लेडी मेंबर’ (महिला सदस्य) संबोधित किया था। इस पर चौधरी और रॉय ने आपत्ति व्यक्त करते हुए कहा था कि मंत्री को ‘महिला सदस्य’ की बजाए ‘माननीय सदस्य’ या ‘संसद सदस्य’ के रूप में संबोधित करना चाहिए। वहीं, इरानी ने कहा था कि यह शब्द असंसदीय नहीं है और ‘एक महिला सदस्य को महिला कहना गलत नहीं है।’