पत्थरबाजी, लाठी, और वॉटर कैनन… इमरान की गिरफ्तारी से पहले ही पाकिस्तान में कोहराम

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को गिरफ्तारी से पहले ही सड़कों पर संग्राम शुरू हो गया है। लाहौर स्थित उनके घर पहुंची पुलिस को समर्थकों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा है। लाहौर की सड़कों पर पीटीआई समर्थकों और पुलिस के बीच हिंसक झड़पें भी हुई हैं। समर्थकों की तरफ से पुलिस पर पत्थरबाजी की गई, जिसके जवाब में पुलिस ने लाठी चार्ज किया है और पानी की बौछार कर भीड़ को खदेड़ा है। हिंसा की आशंका को देखते हुए पुलिस बख्तरबंद गाड़ियों के साथ इमरान खान के घर पहुंची है।इमरान खान को क्यों किया जा रहा है गिरफ्तारइमरान खान के खिलाफ इस्लामाबाद कोर्ट ने दो मामलों में गैर जमानती वारंट जारी किया है। पहला मामला तोशाखाना केस से जुड़ा हुआ है। वहीं, दूसरा मामला जज को धमकाने का है। दोनों की केस से जुड़ी तारीखों पर इमरान खान कोर्ट में पेश नहीं हुए थे। इमरान खान ने कोर्ट में पेशी से छूट की अपील भी की है, जिस पर सुनवाई होना बाकी है। इमरान खान के वकील का दावा है कि कोर्ट में पेशी से उनकी जान को खतरा है। ऐसे में उन्हें वर्चुअली पेश होने की छूट दी जाए।बख्तरबंद गाड़ियों के साथ पहुंची पुलिसइमरान खान के जमान पार्क स्थित आवास के बाहर पुलिस के बख्तरबंद गाड़ियों की लंबी कतार लगी हुई है। खुद इस्लामबाद पुलिस ने कहा है कि वे इमरान खान को गिरफ्तार करने के लिए आए हैं। इमरान के घर की ओर जाने वाले मॉल रोड को पुलिस ने ब्लॉक कर दिया है। जिसके बाद पीटीआई कार्यकर्ता जमान पार्क के बाहर इकट्ठा हो गए हैं। पीटीआई के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट ने भी समर्थकों और कार्यकर्ताओं से जमान पार्क के बाहर इकट्ठा होने और शांतिपूर्ण रहने का आह्वान किया गया है। आज इमरान खान की गिरफ्तारी तयइमरान खान को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस टीम की अगुवाई कर रहे इस्लामाबाद के डीआईजी ऑपरेशन शहजाद बुखारी ने कहा कि पीटीआई प्रमुख को हिरासत में लेने के लिए एक बड़ी टीम को बुलाया गया है। इस ऑपरेशन में शामिल पुलिसकर्मी दंगा रोधी उपकरणों से लैस हैं। पुलिस ने यह बताने से इनकार किया है कि इमरान खान को किस मामले में गिरफ्तार किया जा रहा है, क्योंकि उनके नाम से दो अलग-अलग मामलों में गैर जमानती वारंट जारी हैं।गिरफ्तारी के बाद इमरान को कहां ले जाया जाएगायह पूछे जाने पर कि गिरफ्तारी के बाद इमरान को कहां ले जाया जाएगा। इस पर डीआईजी बुखारी ने कहा, “पहले इसे होने दीजिए, फिर अल्लाह ने चाहा तो हम आपको सूचित करेंगे। उन्होंने जोर देकर कहा कि पुलिस कानूनी प्रक्रिया को पूरा करने के लिए आई है। उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अन्य लोग इस संबंध में अधिकारियों के साथ सहयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि लोग कानून अपने हाथ में नहीं लेंगे और इमरान के आवास के बाहर जमा जनता के सामने इसकी घोषणा भी करेंगे।अराजकता पर कार्रवाई को तैयार पुलिसयह पूछे जाने पर कि अगर स्थिति अराजकता में बदल गई तो क्या पुलिस कार्रवाई करेगी, उन्होंने कहा कि हां बिल्कुल, अगर कोई कानून हाथ में लेता है तो हम कानून के अनुसार कार्रवाई करेंगे। बुखारी से यह भी पूछा गया कि क्या राजधानी की पुलिस पिछले एक हफ्ते से लाहौर में डेरा डाले हुए थी, जिस पर उन्होंने जवाब दिया कि ये उनके अपने ऑपरेशन टेस्टिक्स हैं, जिसकी जानकारी नहीं दी जा सकती है।