आफताब की गाड़ी पर हमले से लेकर हत्या की इनसाइड स्टोरी, जानिए श्रद्धा मर्डर केस के आज के 5 बड़े अपडेट

नई दिल्ली: मामले में दिल्ली पुलिस लगातार जांच में जुटी है। पुलिस के हाथ इस मामले में अहम सुराग लगे हैं। वहीं आज आरोपी आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट हुआ। पॉलीग्राफ के बाद जिस पुलिस वैन में आफताब बैठा था उस पर कुछ लोगों ने तलवार से हमला किया। पुलिस ने दो हमलावरों को हिरासत में लिया है। श्रद्धा हत्याकांड से जुड़े आज के 5 बड़े अपडेट हम आपको बताने जा रहे हैं।

1. आफताब की गाड़ी पर हमलापॉलीग्राफ के बाद दिल्ली के रोहिणी स्थित एफएसएल ऑफिस से पॉलीग्राफ टेस्ट के बाद बाहर लाया गया तो हमलावरों ने पुलिस वैन पर हमला कर दिया। की गाड़ी करने वाले दो लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया। हमलावरों ने बताया कि वो हिंदू सेना के कार्यकर्ता हैं। हमलावरों ने आफताब की वैन का दरवाजा भी खोल लिया। इसी दौरान एक पुलिसकर्मी ने पिस्टल निकाली और हमलावरों को गाड़ी से दूर हटने के लिए कहा। बताया जा रहा है कि हमले में आफताब को कोई चोट नहीं लगी है, वो पुलिस कस्टडी में पूरी तरह सुरक्षित है।

2. श्रद्धा की अंगूठी पुलिस के हाथ लगी
दिल्ली पुलिस को श्रद्धा हत्याकांड से जुड़ा अहम सुराग हाथ लगा है। पुलिस ने खुलासा किया है कि आफताब की दूसरी गर्लफ्रेंड भी थी। श्रद्धा के मर्डर के बाद वो आफताब के फ्लैट पर आई थी। इस दौरान आफताब ने उसे श्रद्धा की अंगूठी गिफ्ट की। पुलिस ने वो अंगूठी बरामद कर ली है।

3. आफताब का हुआ पॉलीग्राफ टेस्ट
आफताब का आज चौथी बार पॉलीग्राफ टेस्ट का सेशन हुआ। पॉलीग्राफ के लिए उसे जेल से रोहिणी स्थित एफएसएल ऑफिस लेकर आया गया। एफएसएल के सहायक निदेशक संजीव गुप्ता ने कहा,’एक्सपर्ट की टीम ने पॉलीग्राफ टेस्ट किया। अगर आवश्यकता हुई तो कल भी आफताब को इस टेस्ट के लिए बुलाया जाएगा। पॉलीग्राफ टेस्ट खत्म होने के बाद नार्को टेस्ट की शुरुआत की जाएगी।’

4. श्रद्धा का शव काटने वाला हथियार बरामद
दिल्ली पुलिस ने श्रद्धा वालकर हत्याकांड में उसके लिव-इन-पार्टनर आफताब अमीन पूनावाला द्वारा शव काटने के लिए कथित तौर पर इस्तेमाल किया गया हथियार बरामद कर लिया है। सूत्रों ने सोमवार को इसकी जानकारी दी। एक सूत्र ने बताया, ‘श्रद्धा वालकर के शव को काटने में प्रयुक्त हथियार पुलिस ने बरामद कर लिया है।’


5. श्रद्धा की हत्या करने के बाद उसके दोस्तों से मिलने मुंबई गया आफताब

पुलिस को जांच में पता चला है कि आफताब ने पुलिस को गुमराह करने के लिए श्रद्धा की हत्या के बाद मुंबई में उसके दोस्तों से मुलाकात की। आफताब ने उनके सामने झूठी कहानी गढ़ी ताकि श्रद्धा के दोस्तों को कोई शक न हो। इतना ही नहीं उसने श्रद्धा के मोबाइल को वाई-फाई से कनेक्ट करके दोस्तों से चैट करने के लिए इस्तेमाल किया। श्रद्धा की मौत के कई दिन बाद तक वो उसके फोन से दोस्तों से चैट करता रहा।