दोस्ती’ हो गई पक्की! दिल्ली में कांग्रेस प्रमुख खड़गे से मिले केजरीवाल, राहुल गांधी भी रहे मौजूद

इंडिया गठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर हो रही चर्चा के बीच आम आदमी पार्टी के प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे से उनके आवास पर मुलाकात की है। इस मुलाकात के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी मौजूद रहे। जानकारी के मुताबिक के दोनों ही नेताओं के बीच सीट बंटवारे को लेकर चर्चा हुई है। साथ ही साथ इंडिया गठबंधन में कैसे आगे बढ़ा जाए, इस पर भी बातचीत हुई है। इन नेताओं के अलावा इस मौके पर आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा और महासचिव केसी वेणुगोपाल भी मौजूद रहे। फिलहाल इस मुलाकात को लेकर दोनों ओर से आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं आई है।  इसे भी पढ़ें: ‘विपक्ष के पास मुद्दा ही नहीं’, JP Nadda बोले- वोट बैंक की राजनीति के लिए ये लोग देश को जातियों में बांट रहेहालांकि, दोनों ओर से कहा गया है कि हम इंडिया गठबंधन के मजबूत हिस्सा बने रहेंगे। इससे पहले सीट बंटवारे को लेकर अरविंद केजरीवाल की पार्टी और कांग्रेस के बीच दो दौर की बातचीत हो चुकी है। सूत्रों के हवाले से मिल रही खबर के मुताबिक दोनों दलों के बीच दिल्ली में सीट बंटवारे पर बात बन गई है। हालांकि, पंजाब को लेकर अभी भी पेंच फंसा हुआ है और शायद पंजाब में दोनों ही दल अलग-अलग होकर ही चुनाव लड़े। दिल्ली की बात करें तो यहां तीन और चार सीट पर बात बनी है। दिल्ली में लोकसभा सीटों की संख्या 7 है। लेकिन कौन सी पार्टी किस लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ेगी, इस पर फैसला होना बाकी है।  इसे भी पढ़ें: ‘कांग्रेस से ही बने इंडिया गठबंधन का संयोजक’, नीतीश कुमार बोले- मेरी दिलचस्पी किसी पद में नहींआप और कांग्रेस अक्सर प्रतिद्वंद्वी रहे हैं, लेकिन भाजपा के नेतृत्व वाले केंद्र का सफाया करने के लिए विपक्षी दल इंडिया गुट में एक साथ आ गए हैं। दिल्ली और पंजाब के अलावा, AAP ने गुजरात, गोवा और हरियाणा सहित अन्य राज्यों में विस्तार करने की इच्छा व्यक्त की है। जवाब में, कांग्रेस अगले दो से तीन दिनों के भीतर अपने स्थानीय राज्य नेतृत्व से परामर्श करने और प्रतिक्रिया देने पर सहमत हुई है। यह कांग्रेस पार्टी की बातचीत में शामिल होने की तैयारी को इंगित करता है जो AAP की महत्वाकांक्षाओं को भी समायोजित कर सकती है। आगामी चुनावों में AAP और कांग्रेस के इंडिया गठबंधन सहयोगियों के रूप में भाग लेने की संभावना काफी बढ़ गई है।