नाइजीरिया के चर्च में गोलीबारी, हमलावरों ने प्रार्थना के समय की फायरिंग, 2 लोगों की मौत

नाइजीरिया के चर्च में प्रार्थना के दौरान बंदूकधारियों ने हमला कर दिया, जिसमें एक महिला और उसकी छोटी बेटी की मौत हो गई. एक सरकारी अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी. कोगी राज्य के शीर्ष सुरक्षा अधिकारी जैरी ओमोदरा ने बताया मोटरसाइकिल पर सवार होकर हमलावर रविवार को सेलेस्टियल गिरजाघर पहुंचे और उनके हमले में दो लोगों की मौत हो गई.
यह गिरजाघर नाइजीरिया की राजधानी अबुजा से 105 किलोमीटर दूर कोगी राज्य के लोकोजा क्षेत्र में स्थित है. नाइजीरिया में इस साल अब तक गिरजाघरों या मस्जिदों पर हमले के कम से कम सात मामले सामने आ चुके हैं. अभी यह पता नहीं चल पाया है कि गिरजाघर पर हमले के पीछे किसका हाथ था. इसी साल जून में भी नाइजीरिया में दो गिरजाघरों पर हमला हुआ था.
पहले भी हुए हैं इस तरह के हमले
प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि लोग रविवार सुबह कादुना के रुबु समुदाय के मरानथा बैपटिस्ट चर्च और सेंट मूसेस कैथोलिक चर्च में प्रार्थना कर रहे थे, तभी हमलावर आए और उन्होंने एक ही इलाके में स्थित इन गिरजाघरों को घेर लिया. उसने कहा कि इससे पहले कि लोग उन्हें देख पाते, उन्होंने गिरजाघरों में हमला करना शुरू कर दिया. इस दौरान तीन लोगों की मौत हो गई थी.
स्थानीय लोगों ने बताया कि कादुना राज्य के काजुरु में हुए हमले में चार गांवों को निशाना बनाया गया, लोगों का अपहरण किया गया और कई घरों को नष्ट किया गया. इसके बाद हमलावर फरार हो गए थे. कादुना में गिरजाघर पर हमले के पीछे किसका हाथ था, ये पता नहीं चल पाया था. इससे पहले इस पश्चिम अफ्रीकी देश में इसी प्रकार के हमले में 40 लोगों की मौत हो गई थी.
नाइजीरिया में बाढ़ से लोग बेहाल
नाइजीरिया में आई बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 603 हो गई है. 13 लाख से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं. बाढ़ ने नाइजीरिया के 36 राज्यों में से 33 में कहर बरपाया है. अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी. बाढ़ के कारण कम से कम 3,40,000 हेक्टेयर भूमि भी प्रभावित हुई है, जिससे खाद्य आपूर्ति बाधित होने की आशंका बढ़ गई है. नाइजीरिया में विशेष रूप से तटीय क्षेत्रों में वार्षिक बाढ़ आती ही है लेकिन इस वर्ष की बाढ़ एक दशक से भी अधिक समय में सबसे भीषण है. (भाषा से इनपुट)