FIFA World Cup: नेमार की चोट के बाद जोरदार वापसी, दक्षिण कोरिया को हराकर ब्राजील क्वार्टर फाइनल में

चोट के बाद वापसी कर रहे नेमार पूरी तरह से फिट नजर आए और उनके गोल से ब्राजील ने सोमवार को यहां दक्षिण कोरिया को 4-1 से हराकर फीफा विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई।
नेमार ने चोट के बाद वापसी करते हुए कोरिया के खिलाफ पेनल्टी को गोल में बदला। इस गोल के साथ वह ब्राजील की ओर से सर्वाधिक गोल दागने के पेले के रिकॉर्ड के करीब पहुंच गए।
नेमार राष्ट्रीय टीम की ओर से 76 गोल कर चुके हैं और वह पेले के रिकॉर्ड से सिर्फ एक गोल पीछे हैं। पेले अभी साओ पाउलो के अस्पताल में इलाज करा रहे हैं।
नेमार के अलावा ब्राजील की ओर से अन्य गोल विनिसियस जूनियर (सातवें मिनट), रिचार्लिसन (29वें मिनट) और लुकास पेक्वेटा (36वें मिनट) ने दागे। ब्राजील की ओर से चारों गोल पहले हाफ में हुए।
कोरिया की ओर से एकमात्र गोल पेक सेयुंग-हो ने 76वें मिनट में किया।
नेमार ने मैच के बाद कहा, ‘‘मैं बेहद डरा हुआ था। इस तरह की चोट के बाद वापसी करना बेहद मुश्किल होता है। मैं पूरी रात रो रहा था। मेरे परिवार को पता है कि मैं किस चीज से गुजर रहा था। लेकिन अंत में सब कुछ सही रहा। फिजियोथेरेपी कराना सफल रहा।’’
पेले सांस के संक्रमण का इलाज करा रहे हैं जो कोविड-19 के कारण अधिक बढ़ गया है।इसे भी पढ़ें: Pro Kabbadi League: पटना पाइरेट्स को हराकर पुणेरी पलटन पीकेएल के सेमीफाइनल में उनकी हालत को लेकर ब्राजील और दुनिया भर के प्रशंसक चिंतित हैं।
मैच के बाद नेमार इस महान फुटबॉल खिलाड़ी की तस्वीर वाला बैनर मैदान पर लाए जिस पर ‘पेले’ लिखा था।पूरी टीम ने इसके बाद मिडफील्ड के समीप इस बैनर के पीछे खड़े होकर तस्वीर खिंचाई।
नेमार ने कहा, ‘‘पेले जिस चीज से गुजर रहे हैं उसे देखते हुए उनके बारे में बात करना आसान नहीं है। हम उनके जल्द उबरने की कामना करते हैं। उम्मीद करते हैं कि इस बैनर और जीत से हमने उन्हें थोड़ा अधिक बेहतर महसूस करवाया होगा।’’
दक्षिण कोरिया की टीम 2002 में सह मेजबान के रूप में सेमीफाइनल में पहुंचने के बाद पहली बार प्री क्वार्टर फाइनल से आगे बढ़ने के लिए चुनौती पेश कर रही थी लेकिन ब्राजील ने उसका सपना तोड़ दिया।
ब्राजील की टीम अब क्वार्टर फाइनल में शुक्रवार को क्रोएशिया से भिड़ेगी। क्रोएशिया ने प्री क्वार्टर फाइनल में नियमित और अतिरिक्त समय में मुकाबला 1-1 से ड्रॉ रहने के बाद जापान को पेनल्टी शूटआउट में 3-1 से हराया।