FIFA World Cup: नेमार के बाद अब मेस्सी का सपना चकनाचूर करना चाहता है क्रोएशिया

अल खोर। क्रोएशिया नेमार का विश्वकप जीतने का सपना पहले ही चकनाचूर कर चुका है और अब उसके निशाने पर लियोनेल मेस्सी हैं जो पहली बार विश्व चैंपियन बनने की कवायद में लगे हुए हैं।
पिछली बार का उपविजेता क्रोएशिया को लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंचने के लिए मंगलवार को सेमीफाइनल में अर्जेंटीना की मजबूत दीवार को पार करना होगा। इस मैच में सभी की निगाहें मेस्सी पर टिकी होंगी जिन्होंने आज तक विश्व कप ट्रॉफी नहीं जीती है।
मेस्सी जहां विश्वकप जीतने का अपना सपना बरकरार रखने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे वहीं 2018 में फाइनल में फ्रांस से हारने वाले क्रोएशिया का लक्ष्य इस बार खिताब जीतना है।
क्रोएशिया के डिफेंडर जोसिप जुरानोविच ने कहा,‘‘ मुझे नहीं लगता कि हमें किसी खिलाड़ी से घबराने की जरूरत है। हमें केवल अपने सर्वश्रेष्ठ खेल पर ध्यान देना होगा।’
उन्होंने कहा,‘‘ हमारी सफलता का रहस्य हमारी एकजुटता है। सच्चाई यह है कि हम एक परिवार की तरह रहते हैं और उसी तरह से अपना खेल खेलते हैं।’’
क्रोएशिया ने क्वार्टर फाइनल में ब्राजील को जब पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से हराया तो नेमार रो पड़े थे।
अर्जेंटीना को सेमीफाइनल तक पहुंचाने में मेस्सी ने अहम भूमिका निभाई है। उन्होंने अब तक पांच मैचों में चार गोल किए हैं। उन्होंने नीदरलैंड के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में नाहुएल मोलिना के लिए जो गोल बनाया था वह उनके कौशल का अद्भुत नमूना था।इसे भी पढ़ें: आईओए का ओलंपिक से पहले प्रशिक्षण सुविधाओं की पहचान के लिए दल को पेरिस भेजने का फैसला
ऐसा लगता है कि जैसे मेस्सी ने अर्जेंटीना को कुल तीसरा और 1986 के बाद पहला विश्वकप खिताब दिलाने का जिम्मा अपने ऊपर ले लिया है।
अर्जेंटीना 2014 में ब्राजील में खेले गए विश्वकप के फाइनल में पहुंचा था लेकिन वह एक करीबी मुकाबले में जर्मनी से 1-0 से हार गया था। यही एकमात्र मौका था जब मेस्सी विश्वकप खिताब के करीब पहुंचे थे। अब वह विश्व चैंपियन बनने से केवल दो जीत दूर हैं।
लुसैल स्टेडियम में होने वाले सेमीफाइनल से पहले क्रोएशिया शांत चित्त नजर आता है और वह अपनी रणनीति का खुलासा भी नहीं करना चाहता है।
क्रोएशिया के स्ट्राइकर ब्रूनो पेटकोविच ने कहा,‘‘ हमने लियोनेल मेस्सी के लिए अभी तक कोई खास रणनीति नहीं बनाई है। अमूमन हम एक खिलाड़ी पर नहीं बल्कि पूरी टीम पर ध्यान केंद्रित करते हैं।’’
उन्होंने कहा,‘‘ इसी रवैए के साथ मैदान पर उतर कर हमें उन्हें रोकना होगा। हमें केवल एक खिलाड़ी पर ध्यान केंद्रित करने से बचना होगा। अर्जेंटीना का मतलब केवल मेस्सी नहीं है।’’
क्रोएशिया की मध्य पंक्ति में उसका मजबूत पक्ष रियाल मैड्रिड के मिडफील्डर लुका मोड्रिच हैं।
क्रोएशिया के कोच जाल्को डालिच ने ब्राजील को हराने के बाद अपनी मध्य पंक्ति को विश्व में सर्वश्रेष्ठ करार दिया था जिसने मैच में अधिकतर समय नेमार को कोई मौका नहीं दिया।