पिता चाहते थे बेटा बने अफसर, 3 बार फेल होकर भी नहीं मानी हार… अब टीम इंडिया में पहुंचा बिहार का लाल

बिहार के गोपालगंज के एक छोटे से गांव काकड़कुंड के रहने वाले मुकेश कुमार का सेलेक्शन टीम इंडिया में हुआ है. यह बिहार के खेल प्रेमियों के लिए गौरवान्वित करने वाला है, जब भारतीय टीम में बिहार के दो खिलाड़ियों का चयन हुआ है. ईशान किशन के साथ गोपालगंज के तेज गेंदबाज मुकेश कुमार का भी चयन भारतीय टीम में हुआ है. साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के लिए मुकेश कुमार का चयन हुआ है.
बिहार के गोपालगंज के रहने वाले मुकेश कुमार बंगाल से रणजी क्रिकेट खेलते हैं. साउथ अफ्रीका के खिलाफ 6 अक्टूबर से होने वाली घरेलू वनडे सीरीज के लिए टीम इंडिया में ईशान किशन और मुकेश कुमार को जगह मिली है. टीम इंडिया में ऐसा पहली बार होगा जब बिहार के दो खिलाड़ी एक साथ खेलेंगे.
बिहार की प्रतिभा को बंगाल ने तराशा
मुकेश कुमार ने क्रिकेट खेलने की शुरूआत गोपालगंज से ही की थी. यहां उन्होंने अपनी प्रतिभा से सबको प्रभावित किया था. इसके बाद उनका गोपालगंज जिला टीम में चयन हुआ. लेकिन बिहार में क्रिकेट के लिए सही माहौल नहीं होने के बाद वह पश्चिम बंगाल चले गए. वहां उन्होंने अपने प्रदर्शन से सबको प्रभावित किया. इसके बाद उनका चयन बंगाल की राज्य क्रिकेट टीम में हो गया. फिर मुकेश ने कभी पीछे मुडकर नहीं देखा. यहां मुकेश रणजी ट्रॉफी के लगातार दो सीजन में 30 से ज्यादा विकेट लेकर चयनकर्ताओं की नजर में आए और फिर उनका सेलेक्शन इंडिया-ए टीम में हुआ. यहां भी उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया जिसके बाद उन्हें टीम इंडिया में जगह मिली है.
शानदार रहा है अबतक का सफर
27 वर्षीय मुकेश कुमार राइट ऑर्म मीडियम बॉलिंग करते हैं. वह बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं. मुकेश कुमार का अबतक का शानदार प्रदर्शन रहा है. उन्होंने 30 फर्स्ट क्लास मैचों में 109 विकेट लिए हैं. मुकेश कुमार ने फर्स्ट क्लास मैच में 5 बार पारी में 5 विकेट लेने का कारनामा किया है. साथ ही उन्होंने 4 पारी में 4 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा है.
CRPF में जाना चाहते थे मुकेश कुमार
मुकेश कुमार के पिता स्व.काशीनाथ कोलकाता में ऑटो चलाया करते थे. वह चाहते थे बेटा सरकारी नौकरी में जाए और उसे उनके समान कष्ट नहीं उठाना पड़े. अपनी पिता की इच्छा पूरी करने के लिए ही मुकेश सीआरपीएफ में जाना चाहते थे. लेकिन यहां वह तीन बार फेल हो गए. और अब उनका चयन भारतीय टीम में हुआ है लेकिन इस पल को देखने के लिए उनके पिता दुनिया में नहीं हैं.