हरियाणा, झारखंड, महाराष्ट्र और जम्मू-कश्मीर में बजेगा चुनाव का डंका, वोटर लिस्ट अपडेट करने का काम हुआ शुरू

निर्वाचन आयोग ने झारखंड, हरियाणा, महाराष्ट्र और जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनावों की तैयारी आरंभ कर दी है। इन विधानसभा चुनावों के लिए मतदाता सूची को अपडेट करने का काम 1 जुलाई, 2024 को आरंभ हो रहा है। इन तीनों राज्यों की विधानसभाओं का कार्यकाल नवंबर 2024 से जनवरी 2025 के बीच समाप्त होने जा रहा है। इसी कारण यहां विधानसभा के चुनाव उनका कार्यकाल पूरा होने से पहले कराए जाने आवश्यक हैं।निर्वाचन आयोग के मुताबिक इसके अतिरिक्त, निर्वाचन क्षेत्रों के परिसीमन के बाद एक नए सदन के गठन के लिए केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर की विधानसभा के लिए आम चुनाव भी कराए जाने हैं। हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनावों में जम्मू-कश्मीर के लोगों की भारी भागीदारी को देखते हुए आयोग ने 1 जुलाई 2024 को अर्हक तिथि मानते हुए मतदाता सूचियों को अपडेट करने के भी निर्देश दिए हैं।आयोग ने सभी पात्र नागरिकों का मतदाता सूची में नामांकन और चुनावों में मतदान के लिए हरियाणा, झारखंड, महाराष्ट्र और संघ शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर की मतदाता सूचियों का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कराने का निर्णय लिया है। इसके लिए बूथ स्तर के अधिकारी अपने अधिकार क्षेत्र में घर-घर जाकर जानकारी एकत्र करेंगे। गैर-नामांकित पात्र नागरिक को मतदाता सूची में जोड़ा जाएगा। आयोग मतदान केंद्रों के विवेकीकरण के लिए भी प्रयास कर रहा है। इससे मतदाताओं की सुविधा के लिए मतदान केंद्रों को और भी छोटी बस्तियों के करीब लाया जा सकेगा।आयोग ने प्रदेशों के सीईओ को मतदान केंद्रों के युक्तिकरण के चल रहे अभ्यास के दौरान व्यापक सर्वेक्षण करने का निर्देश दिया। ताकि उन शहरी क्षेत्रों की पहचान की जा सके, जहां ग्रुप हाउसिंग सोसाइटियां और ऊंची आवासीय इमारतें स्थित हैं। मतदाता सूची में विसंगतियों को दूर किया जाएगा। आयोग के मुताबिक कोई भी पात्र नागरिक मतदाता सूची में शामिल होने के अपने अधिकार से वंचित न रहे, इसकी कोशिश की जा रही है। आयोग ने सभी पात्र नागरिकों से अपील की है कि यदि अभी तक उनका नाम दर्ज नहीं हुआ है, तो वे मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज कराने के लिए आगे आएं और आगामी चुनावों में अपने मताधिकार का प्रयोग करें।