ED ने ऑनलाइन सट्टेबाजी ऐप से जुड़े धन शोधन मामले में आरोपी की आठ करोड़ की संपत्तियां जब्त कीं

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को कहा कि उसने अवैध ऑनलाइन सट्टेबाजी ऐप के जरिये अर्जित धन के शोधन के मामले में मध्य प्रदेश के एक व्यक्ति की आठ करोड़ रुपये से अधिक की संपत्तियां कुर्क की हैं।
ईडी के मुताबिक, यह व्यक्ति मामले का मुख्य साजिशकर्ता है।
ईडी ने एक बयान में कहा कि लोकेश वर्मा उर्फ राजा वर्मा की दस अचल संपत्तियों और पांच बैंक खातों को धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत कुर्क किया गया है।
इसमें कहा गया है कि इन संपत्तियों का कुल मूल्य 8.89 करोड़ रुपये है।
एजेंसी ने कहा कि अवैध ऑनलाइन सट्टेबाजी ऐप जैसे ‘धनगेम्स’ और ‘सट्टा मटका’ मध्य प्रदेश, कर्नाटक और देश के अन्य हिस्सों में लोगों को ‘‘लुभाने’’ के लिए संचालित किए जा रहे थे।
ईडी ने कहा, ‘‘ऐप उपयोगकर्ताओं को मोबाइल नंबर के माध्यम से पंजीकरण करने और यूपीआई के माध्यम से ‘धनगेम्स वॉलेट’ में पैसे हस्तातंरण की अनुमति देता है। ऐप सट्टेबाजी में भी शामिल है।’’
ईडी ने दावा किया कि अन्य लोगों के साथ मिलीभगत कर वर्मा ने अपराध की आय के रूप में 25 करोड़ रुपये अर्जित किए।