EC ने 3 साल के लिए किया अयोग्य, जानें कौन हैं राहुल गांधी जो राहुल गांधी के खिलाफ लड़े थे चुनाव

कोच्चि: राहुल गांधी को सूरत की एक अदालत ने 2019 के मानहानि केस में सजा सुनाई। राहुल गांधी को सजा होने के बाद उन्हें लोकसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहरा दिया गया। राहुल गांधी केरल की वायनाड सीट से सांसद थे। निर्वाचन आयोग (ईसीआई) ने 29 मार्च को सभी राज्य मुख्य निर्वाचन अधिकारियों को जनप्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 की धारा 10ए के तहत अयोग्य घोषित व्यक्तियों की नियमित सूची भेजी। इस सूची में देखें तो राहुल गांधी के साथ ही एक और राहुल गांधी का नाम है। यह हैं राहुल गांधी के ई, उन्हें भी तीन साल के लिए अयोग्य घोषित किया जा चुका है।राहुल गांधी केई कोट्टायम के रहने वाले हैं। सूची के अनुसार उन्हें 9 सितंबर 2021 को तीन साल की अवधि के लिए अयोग्य घोषित किया गया था। उन्हें धारा 10ए के तहत अयोग्य घोषित किया गया था।3 साल के लिए अयोग्यदरअसल राहुल गांधी केई चुनाव लड़ने के बाद चुनाव खर्च का लेखा-जोखा ईसीआई को दर्ज कराने में विफल रहे। उन्हें तीन साल की अवधि के लिए अयोग्य घोषित कर दिया गया है। सूची में कांग्रेस नेता का नाम नहीं था। हालांकि मानहानि के एक मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद 23 मार्च को उन्हें अयोग्य घोषित कर दिया गया था, लेकिन निचली अदालत ने उन्हें कानूनी उपाय करने के लिए 30 दिनों का समय दिया था।राहुल गांधी के साथ रघुल गांधी भीराहुल गांधी केई ने 33 साल की उम्र में वायनाड से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में लोकसभा चुनाव लड़ा था। हालांकि इस सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी राहुल गांधी की 7 लाख से अधिक मतों से जीत हुई थी। वायनाड लोकसभा सीट पर एक और दिलचस्प बात थी। यहां से दो राहुल गांधी और एक राहुल गांधी की नाम से मिलते-जुलते नाम वाले रघुल गांधी भी चुनाव लड़े थे। राहुल गांधी के ई को जहां 2,196 वोट मिले थे। वहीं रघुल गांधी के को महज 845 वोट मिले।अयोग्यता के बारे में पूछे जाने पर, राहुल गांधी के ई ने कहा कि उन्होंने 2019 का चुनाव लड़ा था। उनकी अयोग्यता पर उन्होंने कहा कि वह इसके आगे कुछ नहीं कहना चाहते हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि वह राहुल गांधी केई हैं, राहुल गांधी नहीं।