बजट सत्र के दौरान राज्य गान की जगह बीजेपी विधायकों ने गाया राष्ट्रगान, ममता ने बताया बंगाल का अपमान

पश्चिम बंगाल विधानसभा का बजट सत्र गुरुवार को हंगामे के साथ शुरू हुआ जब भाजपा विधायकों ने राज्य गीत बजने के दौरान राष्ट्रगान गाया। स्पीकर बिमान बनर्जी ने सदन में प्रवेश करने के बाद अधिकारियों को राज्य बजट सत्र की शुरुआत से पहले राज्य गीत बांग्लार माटी बांग्लार जल बजाने का निर्देश दिया। हालांकि, गाना बजते ही बीजेपी विधायक खड़े हो गए और राष्ट्रगान गाने लगे। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसकी निंदा की और कहा कि यह राष्ट्रगान का अपमान है।इसे भी पढ़ें: TMC विधायकों ने गाया ‘राज्य गीत’ तो BJP विधायक गाने लगे ‘राष्ट्रगान’, कुछ इस तरह हुई बंगाल विधानसभा बजट सत्र की शुरुआतअंत में राष्ट्रगान बजाया जा रहा है। जब राज्य गीत बजाया जा रहा हो तो भाजपा द्वारा राष्ट्रगान गाना राष्ट्रगान का अपमान है। बीजेपी विधायक अग्निमित्रा पॉल ने हालांकि, ममता के आरोप का प्रतिवाद किया और कहा कि राष्ट्रगान हमेशा किसी भी सरकारी कार्यक्रम या बजट सत्र की शुरुआत और अंत में बजाया जाता है। पश्चिम बंगाल सरकार ने पिछले महीने एक अधिसूचना जारी कर बंगाली नव वर्ष के पहले दिन पोइला बोइसाख को राज्य दिवस और नोबेल पुरस्कार विजेता रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा लिखित गीत बांग्लार माटी बांग्लार जल को राज्य गीत घोषित किया था।इसे भी पढ़ें: बंगाल में पिछले बार से भी ज्यादा बढ़ सकती है बीजेपी की सीटें, सर्वे में ममता दीदी को लेकर क्या लगाया गया अनुमान?ममता को सदन में अराजकता पैदा करने के लिए भाजपा विधायकों पर आरोप लगाते देखा गया।  एएनआई के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर विपक्ष की कोई राय है, तो वे बजट पूरा होने के बाद इस पर चर्चा कर सकते हैं। उन्हें अपनी राय व्यक्त करने की आजादी है लेकिन यह बीजेपी पार्टी कार्यालय नहीं है। यह विपक्ष के लिए राजनीति करने की जगह नहीं है। लोगों को यह जानने का हक है कि हमने क्या काम किया है। हम इस गंदी राजनीति की निंदा करते हैं। वे राज्य के खिलाफ हैं, बंगाल विरोधी हैं।