नहीं पता कहां हैं माफिया अतीक अहमद के दोनों नाबालिग लड़के, 17 मार्च को उठेगा पर्दा!

शिवपूजन सिंह, प्रयागराज: प्रयागराज में बहुचर्चित उमेश पाल हत्याकांड (Umesh Pal Shootout) के मुख्य आरोपी माफिया अतीक अहमद (Atique Ahmed) व पत्नी शाहिस्ता परवीन ने के दो नाबालिग लड़कों का पता कोर्ट में मंगलवार को भी नहीं चला। कोर्ट ने उस गोपनीय लिफाफे को वापस कर दिया जिसमें जवाब दाखिल किया गया था। साथ कि कहा कि 17 मार्च को स्पष्ट जानकारी दें।अतीक अहमद की पत्नी शाहिस्ता परवीन ने आरोप लगाया है कि उनके दोनों नाबालिग पुत्रों को पुलिस ने गायब कर दिया है। प्रयागराज जनपद न्यायालय के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में शाइस्ता परवीन की तरफ से उनके वकील विजय मिश्र ने प्रार्थना पत्र देकर कोर्ट से सुनवाई की मांग की है। सीजेएम दिनेश कुमार गौतम ने 10 मार्च को बाल संरक्षण अधिकारी प्रयागराज व प्रभारी निरीक्षक धूमनगंज से रिपोर्ट तलब किया था कि वह बतायें कि वादी शाहिस्ता परवीन के दोनों नाबालिग लड़के कहां है?कोर्ट में 3 मार्च को धूमनगंज पुलिस ने दी थी आख्याशाइस्ता परवीन की तरफ से अधिवक्ता विजय मिश्र ने कोर्ट को बताया कि धूमनगंज प्रभारी निरीक्षक की आख्या के अनुसार शाइस्ता परवीन के दो नाबालिग पुत्र खुल्दाबाद में घूमते हुए पाये गये थे। आरोपी के पुत्र नाबालिग है इसलिये पुलिस ने नाबालिग खुल्दाबाद स्थित बाल संरक्षण की में दाखिल कराया गया है। लेकिन बाल संरक्षण गृह में पता करने पर बताया गया कि शाइस्ता परवीन के दोनों नाबालिग लड़के वहां नहीं हैं। 3 मार्च को सीजीएम कोर्ट में पुलिस ने आख्या दे बताया था कि शाइस्ता परवीन के दोनों बेटों को खुल्दाबाद के बाल सुधार गृह भेजा गया था।घटना के दिन ही पुलिस ले गयी थी- शाइस्ताउमेश पाल शूटआउट की घटना के दिन 24 फरवरी को रात में एक मुस्लिम दम्पत्ति धूमनगंज थाने पर आया था। उसने मीडिया वालों को बताया था कि उसका बच्चा शाहिस्ता परवीन के नाबालिग छोटे बेटे के साथ पढ़ता है। 24 फरवरी को सब शाहिस्ता परवीन के यहां साथ में घर पर बैठे थे। पुलिस वाले पूछताछ के लिए बच्चों को ले गये। अब 17 मार्च को हो सकता है खुलासाजहां एक ओर अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन व उनके अधिवक्ता 2 नाबालिग बच्चों की सकुशलता व पता के लिए अर्जी दे रहे हैं। वहीं पुलिस बाल सुधार गृह में होना बता रही,जबकि जिला प्रोबेशन अधिकारी एक सिरे से नकार रहे। ऐसे में माफिया अतीक अहमद के दो नाबालिक बेटों के अचानक से गायब होने के राज से शायद 17 मार्च को पर्दा उठ जाये। जब कोर्ट में पुलिस व जिला प्रोबेशन अधिकारी अपना जवाब देंगे।