Diwali Destinations: भारत के इन शहरों में यूं मनाया जाता है रोशनी का त्यौहार दिवाली

#gallery-1 {
margin: auto;
}
#gallery-1 .gallery-item {
float: left;
margin-top: 10px;
text-align: center;
width: 100%;
}
#gallery-1 img {
border: 2px solid #cfcfcf;
}
#gallery-1 .gallery-caption {
margin-left: 0;
}
/* see gallery_shortcode() in wp-includes/media.php */

दिवाली खूब सारी रोशनी, प्यार और नई शुरुआत का प्रतीक है. भारत विविधताओं से भरा देश है, तो यहां दिवाली को भी कई तरीकों से मनाया जाता है. आज हम आपको दिवाली के उन सेलिब्रेशन के बारे में बताएंगे, जो अलग और हटके हैं.

पंजाब में कैदी मुक्ति दिवस के मौके पर सिख दिवाली को बंदी छोड़ दिवस के रूप में सेलिब्रेट करते हैं. 52 कैदियों के साथ छठे सिख गुरु को दिवाली के दिन ही ग्वालियर किला से मुक्त किया गया था. खासकर अमृतसर में इस मौके को बेहद खूबसूरती से सेलिब्रेट किया जाता है.

अयोध्या: भगवान राम का जन्म स्थान अयोध्या दिवाली के दिन शानदार दिखता है. उनके आने की खुशी में उनके शहर वाले हर साल दिवाली के दिन लाखों दीये जलाते हैं. यहां हर साल रिकॉर्ड तोड़ने वाली संख्या में दीये जलाए जाते हैं और शाम में कई ईवेंट्स भी होते हैं.

वाराणसी: देव दीपावाली को दिवाली एक दिन नहीं, बल्कि दिवाली के करीब दो हफ्तों बाद मनाया जाता है. पूर्णिमा के दिन मनाए जाने वाले इस त्योहार के बारे में कहा जाता है कि इस दिन भगवान गंगा में स्नान करने धरती पर आते हैं. यही वजह है कि इस दिन गंगा घाट को लाखों की संख्या में मिट्टी के दीयों से सजा दिया जाता है.

ऑरोविल: योग, मेडिटेशन और यूनिक कम्युनिटी लिविंग का परफेक्ट उदाहरण है ऑरोविल, जो तमिलनाडु में स्थित है। यहां दिवाली अलग ही तरह से मनाई जाती है। इस जगह को मिट्टी के दीयों से इतना सजाया जाता है कि पूरा ऑरोविल चमक उठता है.