UN चीफ से मिली कसाब को मौत दिलाने वाली देविका, कहा- आतंक खत्म करना मकसद

यूएन महासचिव एंतोनियो गुतारेस अपनी तीन दिवसीय भारत यात्रा पर आज मुंबई पहुंचे. उन्होंने सबसे पहले 26/11 मुंबई हमले में जान गंवाने लोगों को श्रद्धांजलि दी और इसके बाद आतंकी हमले में जीवित बची देविका रोटावन से मुलाकात की. आतंकियों ने देविका को छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनल पर गोली मारी थी. लेकिन बुलेट उनको छूकर निकल गई थी, जिसकी वजह से वो जिंदा बच गईं. इनकी गवाही से आतंकवादी अजमल कसाब के खिलाफ मुकदमा चलाया गया था.
26/11 मुंबई हमले की प्रत्यक्षदर्शी और आतंकी कसाब को फांसी के फंदे तक पहुंचाने वाली रोटावन ने कहा कि मैंने उनसे ( एंतोनियो गुतारेस) बताया कि मैं छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस पर घायल हो गई थी और जब मुझे कोर्ट लाया गया तो मैंने अजमल कसाब को पहचान लिया था. मैंने उनसे यह भी कहा कि मैं पढ़ना चाहती हूं और एक अधिकारी बन कर आतंकवाद को खत्म करना चाहती हूं.

#WATCH | Mumbai: United Nations Secretary-General, António Guterres meets with 26/11 Mumbai attack survivor, Devika who had suffered a bullet shot injury at the Chhatrapati Shivaji Maharaj Terminus whose testimony led to the prosecution of terrorist Ajmal Kasab pic.twitter.com/mFByvrW3JS
— ANI (@ANI) October 19, 2022

देविका के जज्बे को सलाम
26 नवंबर 2008 की वो काली तारीख शायद ही कोई हिंदुस्तानी भूल पाया हो. देविका रोटावन तब महज आठ साल की थी. उसके सामने एक के बाद लाशें गिर रहीं थीं. शायद ही ऐसा मंजर किसी ने अपनी पूरी जिंदगी में कभी देखा हो. वो मासूम बच्ची कुछ समझ ही नहीं पा रही थी. तभी एक गोली उसको छूती हुई निकल गई. वो घायल हो गई थी. उसके जेहन में हर एक पल धंस गया था. जब अदालत में उसको खड़ा किया गया तो तुरंत उस दहशतगर्द कसाब को पहचान गई. इसी के बाद मुकदमा शुरू हुआ और कसाब को फांसी के फंदे तक पहुंचाया.
भारत यात्रा पर यूएन चीफ
संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस अपनी तीन दिवसीय भारत यात्रा पर बुधवार को मुंबई पहुंचे. पहले दिन उन्होंने मुंबई के ताजमहल पैलेस होटल में 26/11 आतंकी हमले में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी. गुतारेस बुधवार आधी रात के बाद लंदन से एक व्यावसायिक उड़ान के जरिए मुंबई पहुंचे. उनके आगमन पर महाराष्ट्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने उनका स्वागत किया.
आईआईटी मुंबई में होगी स्पीच
ताजमहल पैलेस होटल उन स्थानों में से एक था, जिन्हें 26 नवंबर 2008 को हुए भयानक आतंकवादी हमलों के दौरान निशाना बनाया गया था. गुतारेस गुजरात के लिए रवाना होने से पहले आज दिन में आईआईटी मुंबई में इंडिया @ 75: यूएन-इंडिया पार्टनरशिप: स्ट्रेंथनिंग साउथ-साउथ कोऑपरेशन विषय पर एक सार्वजनिक भाषण देंगे. जनवरी में दूसरा कार्यकाल शुरू होने के बाद यह उनकी पहली भारत यात्रा है. उन्होंने इससे पहले अपने पिछले कार्यकाल के दौरान अक्टूबर 2018 में देश का दौरा किया था. संयुक्त राष्ट्र महासचिव 20 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ गुजरात के केवड़िया में मिशन लाइफ (पर्यावरण के अनुसार जीवन शैली) से संबंधित एक कार्यक्रम में शामिल होंगे.