भूपेश बघेल को भेजा, स्पष्ट बहुमत के बावजूद कांग्रेस को हिमाचल में राजस्थान जैसा डर क्यों है?

शिमला: हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस जीत की ओर है। बीजेपी ने हिमाचल प्रदेश में हार स्वीकार की, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि वह थोड़ी देर में राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपेंगे। चुनाव आयोग की वेबसाइट के अनुसार, कांग्रेस 16 सीटें जीत चुकी है और 23 पर आगे चल रही है। हिमाचल में जीत के बाद कांग्रेस कोई चूक नहीं रखना चाहती है। स्पष्ट बहुमत के बाद भी कांग्रेस को यहां अपने जीते हुए विधायकों के खरीद-फरोख्त का डर है। ऐसे में कांग्रेस अपने वरिष्ठ नेताओं छत्तीसगढ़ के सीएम और हिमाचल के पर्यवेक्षक भूपेश बघेल, भूपिंदर हुड्डा और राज्य में पार्टी के इनचार्ज राजीव शुक्ला को चंडीगढ़ भेज रही है।

हिमाचल प्रदेश के जीते हुए कांग्रेस विधायकों को चंडीगढ़ में इकट्ठा किया जाएगा। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक, पहले चंडीगढ़ में जीते हुए विधायकों की पहले यहां मीटिंग होगी और उसके बाद आगे की रणनीति तय की जाएगी। विधायकों को राजस्थान या छत्तीसगढ़ में भी शिफ्ट किया जा सकता है। कांग्रेस ने विधायकों को लाने-ले जाने की जिम्मेदारी हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा को सौंपी है।

‘हमने अपने खिड़की-दरवाजे बंद कर लिए हैं’
भूपेश बघेल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस विधायकों के खरीद-फरोख्त की आशंका है। भूपेश बघेल और राजीव शुक्ला चंडीगढ़ पहुंचने वाले हैं जबकि भूपिंदर हुड्डा पहले से ही चंडीगढ़ में मौजूद हैं। हिमाचल में कांग्रेस इनचार्ज तजिंदर सिंह बिट्टू ने कहा, ‘हम अपने नेताओं को चंडीगढ़ ले जा रहे हैं और हमने अपने खिड़की-दरवाजे बंद कर लिए हैं क्योंकि बीजेपी खरीद-फरोख्त की कोशिश करेगी। उन्होंने पहले भी ऐसा कई बार किया है।’

चंडीगढ़ के लिए रवाना हुए भूपेश बघेल
भूपेश बघेल चंडीगढ़ के लिए रवाना हो चुके हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या खरीद-फरोख्त की संभावनाओं के बीच हिमाचल के नवनिर्वाचित कांग्रेस विधायकों को रायपुर भेजा जाएगा, मुख्यमंत्री ने कहा, ‘उन्हें (नवनिर्वाचित विधायकों को) यहां तो नहीं लाया जाएगा। लेकिन हमें अपने साथियों को संभालकर रखना होगा। बीजेपी कुछ भी कर सकती है।’ बघेल ने आम आदमी पार्टी (आप) को बीजेपी की ‘बी टीम’ करार दिया।

चुनाव आयोग के ट्रेंड के अनुसार, कांग्रेस 29 सीटों पर जीत चुकी है जबकि 10 पर आगे चल रही है। वहीं बीजेपी 16 पर जीत दर्ज कर चुकी है जबकि 10 पर आगे चल रही है। हिमाचल में बहुमत का आंकड़ा 35 है, ऐसे में कांग्रेस यहां बहुमत से सरकार बना सकती है।